द‍िल्‍ली को Electric Vehicle कैप‍िटल के रूप में बनाने के लिए 100 ईवी चार्ज‍िंग स्‍टेशन किये गए स्थापित

``` ```

EV Charging Station: दिल्ली ट्रांसको लिमिटेड (डीटीएल) द्वारा सार्वजनिक भूमि पार्सल पर 100 ईवी चार्जिंग/स्वैपिंग स्टेशन स्थापित करने का काम क‍िया जाएगा.

बताया जाता है क‍ि मौजूदा समय में डीटीएल टेंडर के तहत 896 सार्वजनिक चार्जिंग प्‍वाइंट और 103 बैटरी स्वैपिंग स्टेशन स्थापित किए जा रहे हैं.

चार्जिंग स्टेशनों के पहले सेट का उद्घाटन अगस्त 2022 में होने की उम्मीद है. वर्तमान में दिल्ली में 1892 स्थानों पर कुल 2356 चार्जिंग प्‍वाइंट और 234 बैटरी-स्वैपिंग स्टेशन चालू हैं.

नई दिल्ली. देश की राजधानी द‍िल्‍ली को इलेक्ट्रिक व्हीकल (Electric Vehicle) कैप‍िटल के रूप में बनाने का काम क‍िया जा रहा है.

द‍िल्‍ली सरकार की ओर से इलेक्ट्रिक व्हीकल की सेल को बढाने का काम क‍िया जा रहा है. केजरीवाल सरकार

(Kejriwal Government) द‍िल्‍लीभर में ईवी चार्ज‍िंग स्‍टेशनों की स्‍थापना कर रही है ज‍िससे क‍ि लोगों को व्‍हीकल चार्ज‍िंग की समस्‍या नहीं हो.

दिल्ली ट्रांसको लिमिटेड (DTL) द्वारा सार्वजनिक भूमि पार्सल पर 100 ईवी चार्जिंग/स्वैपिंग स्टेशन स्थापित करने का काम क‍िया जाएगा. इसको लेकर वर्क‍िंग ग्रुप ने टेंडर प्रक्र‍िया की

यह भी पढ़ें  दिल्ली सरकार द्वारा शुरू किए गए वर्चुअल क्लास की मदद से अब स्टूडेंट्स JEE और NEET की तैयारी कर सकते है मुफ्त

स्‍थ‍ित‍ि का र‍िव्‍यू भी क‍िया है. इनमें से चार को टेंडर के स्‍वीकृत‍ि पत्र (एलओए) भी सौंप द‍िए गए हैं.बताया जाता है क‍ि मौजूदा समय में डीटीएल टेंडर के तहत 896 सार्वजनिक

चार्जिंग प्‍वाइंट और 103 बैटरी स्वैपिंग स्टेशन स्थापित किए जा रहे हैं. चार्जिंग स्टेशनों के पहले सेट का उद्घाटन अगस्त 2022 में होने की उम्मीद है.

डायलॉग एंड डेवलपमेंट कमीशन (डीडीसी) के उपाध्यक्ष और वर्किंग ग्रुप के अध्यक्ष जस्मिन शाह ने कहा कि ईवी चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर वर्किंग ग्रुप ने भारत में ईवी लीडर के रूप में

दिल्ली के उभरने के लिए एक सक्षम वातावरण बनाने के लिए लगातार कदम उठाए हैं. दिल्ली ने ईवी चार्जिंग प्‍वाइंट्स के

व्यापक नेटवर्क की स्थापना में देश का नेतृत्व किया है. वर्तमान में दिल्ली में 1892 स्थानों पर कुल 2356 चार्जिंग प्‍वाइंट और 234 बैटरी-स्वैपिंग स्टेशन चालू हैं.

व‍िभागों के बीच कॉर्ड‍िनेशन स्‍थाप‍ित करने पर जोर
दिल्ली में चार्जिंग स्टेशनों का एक कुशल, लागत प्रभावी और न्यायसंगत नेटवर्क स्थापित करने के लिए विभागों के बीच समन्वय की आवश्यकता है.

यह भी पढ़ें  दिल्ली से सटे गुड़गांव में है इतने सुंदर और सस्ते वाटरपार्क, टिकट मात्र 300₹।

उन्होंने दिल्ली को भारत की ईवी राजधानी के रूप में स्थापित करने के दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के विजन के नेतृत्व में कार्य समूह के प्रयासों के लिए सभी का आभार जताया.

वर्किंग ग्रुप की 5वीं बैठक में सरकारी एजेंसियां, ईवी उद्योग/थिंक टैंक सहित सभी साझेदारों ने भाग लिया. मीट‍िंग में परिवहन विभाग के प्रमुख सचिव-सह-आयुक्त आशीष कुंद्रा के

साथ ऊर्जा विभाग, पीडब्ल्यूडी, डिस्कॉम, एमसीडी, एनडीएमसी के आला अवसर और ईवी उद्योग के विशेषज्ञ प्रमुख रूप से उपस्थित थे.

ड‍िस्‍कॉम को कार्य में तेजी लाने के न‍िर्देश
जस्मिन शाह ने अपस्ट्रीम इलेक्ट्रिकल इंफ्रास्ट्रक्चर बिछाने में देरी के कारण कुछ साइटों के संचालन में देरी होने पर भी संज्ञान लिया.

उन्होंने डिस्कॉम्स को कार्य प्रणाली में तेजी लाने के लिए सख्ती से निर्देश दिया, ताकि इन साइटों को समय पर पूरा किया जा सके.

परिवहन विभाग की ओर से सीईएसएल के माध्यम से 20 बस डिपो में डीटीएल द्वारा सार्वजनिक चार्जिंग/स्वैपिंग स्टेशनों स्थापित किए‌ जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें  दिल्ली में शराबियो की हुई बल्ले बल्ले, फिर से शराब पर भारी छूट

इनमें से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा बुधवार को 7 डीटीसी डिपो (राजघाट, आईपी एस्टेट, कालकाजी, नेहरू

प्लेस, महरौली, द्वारका सेक्टर -2 और द्वारका सेक्टर-8) में ईवी वाहनों के लिए 45 चार्जिंग प्‍वाइंट का उद्घाटन किया जा चुका है.

वर्किंग ग्रुप दिल्ली में चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर को और बेहतर करने के लिए सभी संबंधित सरकारी संस्थाएं के साथ एक संयुक्त रणनीति की आवश्यकता पर भी चर्चा की.

इस दौरान विभिन्न एजेंसियों के इनपुट पर चर्चा की गई. इसके संबंध में योजना चौथे दिल्ली ईवी फोरम के दौरान 10 अगस्त को पेश की जाएगी,

जो दिल्ली की ऐतिहासिक ईवी नीति की दूसरी सालगिरह को भी चिह्नित करेगी.