चांदनी चौक के मुख्य मार्ग पर चालान काटने के लिए लगाए 23 आटोमैटिक नंबर प्लेट,उल्लंघन पड़ेगा महंगा

``` ```

Delhi Chandni Chowk चांदनी चौक की व्यवस्थाओं को लेकर गत दिनों हुई बैठक में यातायात पुलिस ने जानकारी दी है कि चालान काटे जाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है

।यातायात पुलिस टोडापुर कार्यालय के माध्यम से चांदनी चौक में यातायात से संबंधित व्यवस्थाओं पर नजर रख रही है।चांदनी चौक में वाहन चालकों ने नियमों का उल्लंघन किया तो

अब खैर नहीं है।प्रतिबंधित समय में मुख्य मार्ग पर अब वाहनों के आनलाइन चालान कट रहे हैं, वाहन चालकों काे पता भी नहीं चलता है आैर प्रतिबंधित समय में उनका चालान कट

जा रहा है। दिल्ली सरकार में चांदनी चौक की व्यवस्थाओं को लेकर गत दिनों हुई बैठक में यातायात पुलिस ने जानकारी दी है कि चालान काटे जाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

यातायात पुलिस टोडापुर कार्यालय के माध्यम से चांदनी चौक में यातायात से संबंधित व्यवस्थाओं पर नजर रख रही है।दरअसल लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) ने पुनर्विकसित

किए गए चांदनी चौक के मुख्य मार्ग पर चालान काटने के लिए लगाए गए लिए 23 आटोमैटिक नंबर प्लेट रिकग्निशन (एएनपीआर) कैमरों की फीड यातायात पुलिस को सौंप दी है

यह भी पढ़ें  भारत और साउथ अफ्रीका वाले मैच के दिल दिल्ली की मेट्रो की टाइमिंग में हुआ है बदलाव। जल्दी देख ले अपने रूट की टाइमिंग।

।बताया जा रहा है कि पिछले दो माह के दाैरान बड़ी संख्या में चालान काटे जा चुके हैं।इसके अलावा पीडब्ल्यूडी ने उन बूम बैरियर की मरम्मत का भी काम शुरू कर दिया है

जो मुख्य मार्ग से जुड़ने वाली विभिन्न सड़कों के प्रवेश प्वाइंटाें पर स्थापित हैं।इन्हीं प्वाइंटों पर कुल 22 एएनपीआर कैमरे और लगाए जा रहे हैं।यह काम भी आधा पूरा हो गया है।

जल्द ही ये कैमरे भी काम करना शुरू कर देंगे।सुबह नाै बजे से रात नाै बजे के बीच मोटर चालित वाहन प्रतिबंधित हैैं।चांदनी चौक के मुख्य मार्ग यानी लालकिला के सामने गौरी शंकर

मंदिर से लेकर फतेहपुरी मस्जिद तक इसके तहत यह व्यवस्था की गई है कि प्रतिबंधित समय में इस मार्ग पर वाहन के गुजरने पर आनलाइन चालान कट जा रहा है।

इस सड़क पर प्रतिबंधित समय में दोपहिया और चार पहिया वाहनों के घुसने के कई मामले सामने आए थे,इस मार्ग को पिछले साल सितंबर में ही पुनर्विकसित कर दिया गया था

यह भी पढ़ें  दिल्ली के नरेला तक चलेगी मेट्रो जाने रूट।

।इसके साथ ही पीडब्ल्यूडी ने सफाई का काम देख रही कंपनी को बदल दिया है।उसके बाद से सफाई कार्य में बदलाव होना बताया जा रहा है।

इस मार्ग पर रह रहे बेघर अभी भी समस्या बने हुए हैं।इसका समाधान नहीं निकाला जा सका है, इसके अलावा अवैध रूप से चल रहे साइकिल रिक्शे भी समस्या बने हुए हैें।

यहां पर 400 के करीब साइकिल रिक्शा के लिए अनुमति है मगर कई हजार रिक्शे चल रहे हैं। गत दिनों उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने अपने दौरे के दौरान यहां की अव्यवस्थाओं पर नाराजगी व्यक्त की थी।उसके बाद से व्यवस्थाओं में सुधार किया जा रहा है।