दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे जुलाई के इन 2 दिन रहेगा बंद, दूसरा रूट चेक कर ले

``` ```

Delhi-Meerut Expressway कांवड़ यात्रा को देखते हुए आगामी 24 से 26 जुलाई तक दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे बंद रहेगा। दिल्ली और गाजियाबाद से आने वाले वाहन

एक्सप्रेस-वे से डासना में उतारकर वाया हापुड रोड मेरठ तक पहुंच सकेंगे। मेरठ से दिल्ली जाते समय भी यही मार्ग रहेगा।एक बार फिर शिवरात्रि से पहले मेरठ दिल्ली सहित अन्य शहरों से तीन दिन के लिए पूरी तरह से कट जाएगा।

26 जुलाई को शिवरात्रि है। शिवरात्रि के मौके पर मंदिरों में जलाभिषेक के लिए हरिद्वार से चले कांवड़ियों को रास्ते में दिक्कत न हो, इसकी खातिर मेरठ पुलिस ने योजना बना ली है।

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे तीन दिन पूरी तरह से बंद रखने का फैसला

इस बार एनएच-58 के साथ ही दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे भी 24 से 26 जुलाई तक पूरी तरह से बंद रखने का फैसला किया गया है। 23 जुलाई की रात्रि 12 बजे तक ही वाहन

एक्सप्रेस-वे से दिल्ली जा सकेंगे या मेरठ आ सकेंगे। फिलहाल एक्सप्रेस-वे पर वाहनों का आना-जाना जारी रहेगा। इसी तरह दिल्ली देहरादून हाईवे-58 से देहरादून हाईवे वाया

मेरठ भी 24 जुलाई से पूरी तरह बंद रहेगा। यातायात विभाग ने एक्सप्रेस-वे को लेकर ट्रैफिक प्लान जारी कर दिया है।

यह भी पढ़ें  दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने किया 7 नए Electric Vehicle चार्जिंग स्टेशनों का उद्घाटन, ये है खासियत

16 जुलाई से दिल्ली रोड पर एक लेन में ही चलेंगे वाहन

फिलहाल तय किया गया है कि 15 जुलाई की मध्यरात्रि (रात 12 बजे) यानी 16 जुलाई से मोदीपुरम से दिल्ली रोड होकर एक्सप्रेस वे या एनएच-58 की ओर आने-जाने वाले वाहन एक ही लेन में चलेंगे। इस दौरान आटो, टेंपो, ई-रिक्शा भी चलेंगे।

भारी वाहनों के लिए यह मार्ग पूरी तरह से प्रतिबंधित होंगे। दो पहिया व चार पहिया वाहन ही एक्सप्रेस-वे या हाईवे से शहर के अंदर आ सकेंगे। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि

कांवड़ियों की संख्या और परिस्थिति को देखकर निर्णयों में बदलाव किया जा सकता है। तय प्लान के मुताबिक शहर के अंदर दिल्ली रोड पर पैदल और दोपहिया वाहनों पर सवार कांवड़ियों को 23 की मध्य रात्रि तक एक लेन से निकाला जाएगा।

दूसरी लेन शहर के लोगों के आवागमन के लिए रखी गई है। 24 जुलाई से दिल्ली रोड पर दोनों लेन में कांवड़ियों को चलायाजाएगा। यानि दिल्ली रोड पर शहर के लोग नहीं चल सकेंगे। एसपी यातायात ने कहा कि संख्या को देखते हुए रूट प्लान बदल भी सकता है।

यह भी पढ़ें  मकान आवंटन के लिए ई-आवास पोर्टल बना रही है दिल्ली सरकार, राहत की उम्मीद

24 से 26 जुलाई तक दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे बंद रहेगा। दिल्ली और गाजियाबाद से आने वाले वाहन एक्सप्रेस-वे से डासना में उतारकर वाया हापुड रोड मेरठ तक पहुंच सकेंगे।

मेरठ से दिल्ली जाते समय भी इसी मार्ग को अपनाना होगा। 23 जुलाई तक एक्सप्रेस-वे पर वाहनों का संचालन यथावत रहेगा। दिल्ली हाईवे पर एक लेन में चलने वाले वाहन भी मेरठ से एक्सप्रेस-वे पर चढ़कर दिल्ली या गाजियाबाद जा सकेंगे।

23 जुलाई की रात तक एक्सप्रेस-वे पर जाने और वहां से आने वाले वाहनों के लिए परतापुर से दैनिक जागरण चौराहे तक एक लेन में वाहनों का संचालन जारी रहेगा।

यहां से बिजली बंबा बाइपास होते हुए शहर के अंदर प्रवेश करेंगे। शहर के अन्य हिस्से में जाने वाले वाहन दिल्ली हाईवे पर एक लेन से रोहटा रोड, बागपत रोड और कंकरखेड़ा की ओर जा सकेंगे।

23जुलाई की रात तक शहर के अंदर दिल्ली रोड से पैदल और दोपहिया पर सवार कांवड़िये को एक लेन से निकाला जाएगा। यानि एक लेन पर शहर के लोगों का आना-जाना रहेगा।

चार पहिया वाहनों में आने वाले कांविड़यों को मोदीपुरम पुल के पास ही रोक दिया जाएगा। उनके लिए हाईवे पर सांकेतिक बोर्ड लगाए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें  दिल्ली के साथ कई राज्यों मे एयर इंडिया 20 अगस्त से शुरू करेगी 24 नई घरेलू उड़ानें, जाने फ्लाइट्स रूट्स

24 जुलाई से शहर के अंदर दिल्ली रोड पर दोनों लेन पर कांवड़िये चल सकेंगे। यानि शहर के लोगों को दिल्ली रोड पर निकलने नहीं दिया जाएगा।

इस अवधि में रैपिड रेल का कार्य भी बंदकरा दिया गया है। बड़ी कांवड़ लेकर आने वाले कांवड़ियों को मोदीपुरम पुल के पास रोकने के पूरे बंदोबस्त किए हैं।

सांकेतिक बोर्ड लगाए जा रहे हैं। अन्य जनपदों में जाने वाली बड़ी कांवड़ को हाईवे से निकाला जाएगा। शहर में जाने वाली बड़ी कांवड़ कंकरखेड़ा, रोहटा और बागपत रोड से भी आ सकेंगी।इन्‍होंने कहा

कांवड़ यात्रा और शहर के लोगों को ध्यान में रखते हुए रूट प्लान जारी किया गया है। यदि किसी को भी परेशानी हुई तो प्लान में बदलाव किया जाएगा।

एक्सप्रेस-वे तीन दिन के लिए पूरी तरह बंद होगा। इसी तरह से शहर के अंदर भी यातायात एक लेन पर करने का निर्णय लिया गया है। कांवड़ियों की संख्या बढ़ने के बाद दिल्ली रोड बंद किया जाएगा।