दिल्ली एनसीआर और हरियाणा में वायु प्रदूषण को खत्म करने के लिए बनाया गया है 900 करोड़ में प्लांट, जनता को होगा फायदा

``` ```

नई दिल्ली:
Ethanol Plant to Reduce Pollution : दिल्ली एनसीआर और हरियाणा में वायु प्रदूषण को खत्म करने की दिशा में इथेनॉल प्लांट बड़ी भूमिका निभाने वाला है.

इस इथेनॉल प्लांट को हरियाणा में इंडियन ऑयल की पानीपत स्थित रिफायनरी में बनाया गया है.

900 करोड़ रुपये में बने इस प्लांट की मदद से किसानों को पराली की समस्या से भी निजात मिल जाएगी.

100 लीटर इथेनॉल बनाने की क्षमता
हरियाणा के पानीपत में स्थित द्वितीय जनरेशन (2G) इथेनॉल संयंत्र को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र को समर्पित कर दिया. इस इथेनॉल प्लांट को बनाने में 900 करोड़ रुपये का खर्च

आया है. प्लांट में प्रतिदिन 100 लीटर इथेनॉल बनाने की क्षमता है. इसके संचालन से पेट्रोल में इथेनॉल मिलाने की प्रक्रिया तेज और आसान हो जाएगी.

पॉल्यूशन संकट से मिलेगी राहत
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इथेनॉल का उद्घाटन कार्यक्रम हरियाणा समेत पूरे देश के किसानों के लिए बहुत अहम है. आज पानीपत में जो एथेनॉल संयंत्र लगा है वो तो एक

यह भी पढ़ें  दिल्ली सरकार ने 15 साल पुराने वाहनों के लिए जारी किया नया प्लान, नहीं बनेंगे वाहन अब कबाड़

शुरूआत मात्र है. इस प्लांट की वजह से दिल्ली, NCR और हरियाणा में प्रदूषण कम करने में भी मदद मिलेगी. प्रदूषण का संकट कम हो जाएगा होगा.

रोजगार के अवसर पैदा होंगे प्रधानमंत्री ने संबोधन में कहा कि दूसरा फायदा ये होगा कि पराली काटने से लेकर उसके निस्तारण के लिए जो नई व्यवस्था बन रही है, नई मशीनें आ रही हैं,

ट्रांसपोर्टेशन के लिए नई सुविधा बन रही है, जो ये नए जैविक ईंधन प्लांट लग रहे हैं, इन सबसे गांवों में रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे.

पराली के बोझ से मिलेगी मुक्ति
पीएम मोदी ने कहा कि तीसरा फायदा होगा कि जो पराली किसानों के लिए बोझ थी, परेशानी का कारण थी, वही उनके लिए, अतिरिक्त आय का माध्यम बनेगी.

पर्यावरण की रक्षा में किसानों का योगदान और बढ़ेगा. कुछ वर्ष पहले देश ने पेट्रोल में 10 फीसदी तक इथेनॉल मिलाने का लक्ष्य रखा था, जिसे पूरा किया जा चुका है.

यह भी पढ़ें  दिल्ली में इलेक्ट्रिक गाड़िया फ्री में कर सकेंगे चार्ज। बस माननी होगी ये शर्त। इन जगहों पर बनाए जाएंगे ई-चार्जिंग स्टेशन