दिल्ली में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को मिल रही सबसे ज्यादा सैलरी, 10वी पास भी कर सकते है अप्लाई। जाने डिटेल्स।

``` ```

दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार ने दावा किया है कि दिल्ली देश का इकलौता राज्य है, जहां आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सबसे अधिक मानदेय दिया जा रहा है। भाजपा शासित राज्यों के मुकाबले यह 30 प्रतिशत अधिक है। सरकार का कहना है कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार बनने के बाद आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के मानदेय में ढाई गुना तक की बढ़ोतरी हुई है। केजरीवाल सरकार आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 12720 रुपये, जबकि सहायक को 6810 रुपये प्रतिमाह दे रही है। दूसरे राज्यों में महज 3250 से लेकर 4000 रुपये तक ही दिए जा रहे हैं। कांग्रेस शासित राज्यों में भी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दिल्ली से कम मानदेय मिल रहा है।

दिल्ली सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के मुताबिक भाजपा शासित उत्तर प्रदेश, गुजरात, कर्नाटक में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 7800 से 8000 तक दिए जाते हैं, जबकि दिल्ली में करीब 13,000 रुपये प्रतिमाह मानदेय दिया जा रहा है। बिहार की गठबंधन वाली भाजपा सरकार महज 7000 रुपये मानदेय ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दे रही है। वहीं कांग्रेस शासित पंजाब में 9500 और महाराष्ट्र में 8666 रुपये प्रतिमाह दिए जा रहे हैं। दूसरी तरफ दिल्ली में आंगनबाड़ी सहायक को 6810 रुपये दिए जाते हैं, जबकि पंजाब में महज 5000 और महाराष्ट्र में 4600 ही दिए जा रहे हैं

यह भी पढ़ें  दिल्ली की जनता मुफ्त बिजली की आढ़ मे चूका रही है मोटी कीमत, जानिए क्या है बिजली विभाग का सच

आँगनवाड़ी भारत में ग्रामीण माँ और बच्चों के देखभाल केंद्र है। बच्चों के भूख और कुपोषण से निपटने के लिए एकीकृत बाल विकास सेवा कार्यक्रम के भाग के रूप में, 1975 में उन्हें भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया था।



योग्यता.

आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए एक ही योग्यता निर्धारित की गई है वह है candidate का 10वीं पास होना। यदि कोई व्यक्ति दसवीं पास नहीं है तो वह आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बनने के लिए apply नहीं कर सकता है।