दिल्लीवालो के लिए बचत का मौका, गीला कूड़ा प्लास्टिक लाओ और खाद ले जाओ

``` ```

देश में और खासकर दिल्ली में कूड़ा एक बहुत बड़ी समस्या है। अक्सर देखा जाता है कि सड़कों के किनारे रिहायशी इलाके में आसपास कूड़े का ढेर लगा रहता है।

कूड़े के इन ढेरों पर जहरीले मच्छरों के अलावा जानवरों का जमावड़ा लगा रहता। यह सड़ा-गला कूड़ा खाकर जानवर तो बीमार पड़ते ही हैं, साथ ही कूड़े की बदबू के कारण पर्यावरण भी दूषित होता है।

कई बार तो वहां से लोगों का गुजरना भी दूभर हो जाता है।नगर निगम इस कूड़े को उठाने के लिए और सफाई के लिए रोजाना काम करती है लेकिन फिर भी हर इलाके में इतना कूड़ा जमा होता है

कि नगर निगम की लाख कोशिश के बावजूद भी पूरी तरह से इससे निपटना मुश्किल है। इसी समस्या को देखते हुए दिल्ली नगर निगम, अब जगह-जगह कूड़ा निष्पादन के लिए कंपोस्टिंग मशीन लगा रही है

जिससे इलाके से निगम की गाड़ियां कूड़ा उठा कर लाएगी और इस मशीन के माध्यम से वहीं पर उस कूड़े का निष्पादन हो जाएगा और उसकी खाद बन जाएगी। इससे सबसे बड़ी राहत की बात यह है कि जगह-जगह कूड़े के पहाड़ नहीं बनेंगे।

यह भी पढ़ें  दिल्ली NCR में दो दिन से हो रही बारिश से DND पर वाहनों की रफ्तार धीमी, जलभराव से कई जगहों पर जाम

रजोकरी गांव में नगर निगम द्वारा कूड़ा निष्पादन के लिए कंपोस्टिंग मशीन लगाई गई जिसका उद्घाटन वसंतकुंज के पूर्व पार्षद मनोज महलावत ने गांव वालों के साथ मिलकर किया। बता दें कि रजोकरी गांव काफी बड़ा गांव है और

यहां कोई कूड़ा निष्पादन के लिए कंपोस्टिंग मशीन नहीं थी जिसके कारण यहां इधर-उधर कूड़ा बिखरा रहता था। रजोकरी गांव जंगलों से घिरा हुआ है और मेन रोड से दूर है जिसके कारण निगम की गाड़ियों को यहां आने-जाने में काफी समय लगता था जिसके कारण यहां कूड़े की बहुत बड़ी समस्या थी।