दिल्ली में 18000 चार्जिंग प्वाइंट का निर्माण कार्य प्रगति पर, आप भी कर सकते हैं इलेक्ट्रिक पंप लगाकर पेट्रोल पंप जैसी कमाई,जाने कैसे

``` ```

नई दिल्ली : देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने का काम किया जा रहा है। इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली सरकार बढ़ चढ़कर काम कर रही है।

इसके लिए समय समय पर दिल्ली में नई नई योजनाओं पर काम किया जा रहा है। दिल्ली सरकार का लक्ष्य इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देकर प्रदूषण रोकना है।

पेट्रोल डीजल की महंगाई से मिलेगा छुटकारा वहीं इलेक्ट्रिक वाहनों की तादाद बढ़ने से लोगों को बढ़ते पेट्रोल डीजल की कीमतों से भी छुटकारा मिल जाएगा। अब दिल्ली सरकार द्वारा एक और नई स्कीम को शुरू किया गया है

जिसके तहत अब आसानी से कम खर्च में इंटीग्रेटेड यूनिट को लगाया जा सकता है और उससे पेट्रोल पंप जैसी ही कमाई की जाने वाली है। आइए जानते हैं खबर से जुड़ी खास बातें

दिल्ली में इंटीग्रेटेड यूनिट लगाना हुआ आसान दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए नई स्कीम को लॉंच किया गया है। दिल्ली सरकार का ये फैसला किसी तोहफे से कम नहीं है।

यह भी पढ़ें  दिल्ली में 15 अगस्त की रिहर्सल के चलते आज मेट्रो स्टेशन पर भी एंट्री-एग्जिट गेट रहेंगे बंद ,देखें ट्रैफिक अलर्ट

कहा जा रहा है कि दिल्ली सरकार दिल्ली में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए चार्जिंग पॉइंट बनाना चाहती है और दिल्ली में वे 18000 चार्जिंग पॉइंट बनाने में मदद करने वाली है।

हालांकि सरकार उन्हीं चार्जिंग पॉइंट्स को स्थापित करने में मदद करेगी जो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से दिल्ली के द्वारा स्थापित किया हुआ होगा।

इस तरह साकार होगी योजना इस योजना के अनुसार कंपनियों और सहभागिता से ही इन्फ्रास्ट्रक्चर को तैयार किया जाने वाला है। इसका मतलब यदि आपके पास भी कोई खाली प्रांगण है

जहां गाड़ियों को खड़े रहकर चार्ज किया जा सकता हैं तो दिल्ली के डिस्कोम पर इलेक्ट्रिक वाहनों के चार्जिंग पॉइंट के लिए आवेदन किया जा सकता है।

इसमें सरकार सब्सिडी भी दे रही है जिसका लाभ उठाया जा सकता है। वहीं चार्जिंग पॉइंट को चालू करने की ज़िम्मेदारी भी सरकार उठाने वाली है।

पेट्रोल पंप जैसी ही होगी कमाई इस चार्जिंग पॉइंट को लगाने के लिए सरकारी यूनिट के अनुसार प्रति 1 घंटे करीब 30-40रु का खर्च आने वाला है जबकि वाहन मालिकों से चार्जिंग के 150-200 प्रति घंटे

यह भी पढ़ें  DMRC की अनुमति से मेट्रो स्टेशन्स पर खुली शराब की दुकाने,जाने कौन से है वो मेट्रो स्टेशन

शुल्क लिया जाने वाला है। कहा जा रहा है कि इस काम से भी पेट्रोल पंप जैसी ही बढ़िया कमाई होने वाली है।