दिल्ली सरकार का तोहफा, 23256 श्रमिकों के खाते में भेजे गए 5-5 हजार रुपए।

``` ```

दिल्ली में पंजीकृत श्रमिकों के लिए बड़ी खुशखबरी है. दिल्ली की केजरीवाल सरकार श्रमिकों को बड़ी राहत देते हुए उनके खाते में 5 हजार रुपए ट्रांसफर कर रही है. दिल्ली सरकार ने सोमवार को उन 23,256 श्रमिकों को 11.6 करोड़ रुपये का अनुदान जारी किया, जो हाल ही में वायु प्रदूषण के कारण यहां निर्माण गतिविधियों पर लगे प्रतिबंध से प्रभावित हुए थे.

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सोमवार को कहा कि दिल्ली सरकार ने सभी पंजीकृत निर्माण श्रमिकों को शहर में वायु प्रदूषण को रोकने के लिए सर्दियों के दौरान लगाए गए निर्माण प्रतिबंध के कारण काम के नुकसान के लिए ₹ 5,000 का अनुदान देना शुरू कर दिया है. उपमुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, अरविंद केजरीवाल नीत सरकार दिल्ली में निर्माण कार्यों से जुड़े श्रमिकों के कल्याण के लिए काम करने और उन्हें एक सम्मानजनक जीवन प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है.

बयान के अनुसार, ‘इसके मद्देनजर सरकार ने 23,256 निर्माण श्रमिकों के खातों में 5-5 हजार रुपये की अनुदान राशि डाली है. बता दें कि बढ़ते वायु प्रदूषण के कारण पिछले साल नवंबर में दिल्ली में निर्माण गतिविधियों को रोक दिया गया था. नुकसान की भरपाई कमनीष सिसोदिया ने कहा कि पहले चरण में सरकार ने नवंबर में प्रतिबंध की घोषणा के तुरंत बाद दिल्ली भवन और अन्य निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड के साथ पंजीकृत 492,000 श्रमिकों को 245 करोड़ की सहायता प्रदान की थी. इसके बाद इस वर्ष होली पर 83,000 श्रमिकों को ₹41.9 करोड़ की राशि वितरित की गई.

यह भी पढ़ें  दिल्ली यूनिवर्सिटी ने जारी किए आदेश, एडहॉक शिक्षको क़ो बड़ी राहत जानिए क्या है

वर्तमान किस्त में 23,000 से अधिक निर्माण श्रमिकों को 11.6 करोड़ रुपये की राशि वितरित की गई है, जिन्होंने अपने बैंक खाते को सफलतापूर्वक अपडेट किया है. यह सहायता राशि दो कार्य दिवसों के भीतर श्रमिकों के खातों में पहुंच जाएगी. यह राशि 24 नवंबर, 2021 से पहले निर्माण बोर्ड के साथ पंजीकृत सभी निर्माण श्रमिकों को दी गई है.

साथ ही, 23 मार्च, 2022 तक बैंक संशोधन पूरा करने वाले प्रत्येक निर्माण श्रमिक को वर्तमान किस्त में ₹ 5,000 प्राप्त हुए हैं.रने और निर्माण श्रमिकों को सहायता प्रदान करने के लिए दिल्ली सरकार ने प्रत्येक निर्माण श्रमिक को ₹5,000 के अनुदान की घोषणा की और इसके लिए ₹350 करोड़ की राशि जारी की गई.

मनीष सिसोदिया ने कहा कि पहले चरण में सरकार ने नवंबर में प्रतिबंध की घोषणा के तुरंत बाद दिल्ली भवन और अन्य निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड के साथ पंजीकृत 492,000 श्रमिकों को 245 करोड़ की सहायता प्रदान की थी. इसके बाद इस वर्ष होली पर 83,000 श्रमिकों को ₹41.9 करोड़ की राशि वितरित की गई. वर्तमान किस्त में 23,000 से अधिक निर्माण श्रमिकों को 11.6 करोड़ रुपये की राशि वितरित की गई है, जिन्होंने अपने बैंक खाते को सफलतापूर्वक अपडेट किया है.

यह भी पढ़ें  जल्द शुरू होंगे देश के पहले 4 मंजिला मेट्रो स्टेशन, ब्ल्यू-एक्वा लाइन से भी जुड़ेगा। रूट जाने।

यह सहायता राशि दो कार्य दिवसों के भीतर श्रमिकों के खातों में पहुंच जाएगी. यह राशि 24 नवंबर, 2021 से पहले निर्माण बोर्ड के साथ पंजीकृत सभी निर्माण श्रमिकों को दी गई है. साथ ही, 23 मार्च, 2022 तक बैंक संशोधन पूरा करने वाले प्रत्येक निर्माण श्रमिक को वर्तमान किस्त में ₹ 5,000 प्राप्त हुए हैं.

गौरतलब है कि दिल्ली में लगभग 1.1 मिलियन कंस्ट्रक्शन वर्कर्स हैं, जिनमें से 900,000 श्रमिक कल्याण बोर्ड के साथ पंजीकृत हैं. उपमुख्यमंत्री सिसोदिया ने सभी निर्माण श्रमिकों से अपील की कि वे कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए जल्द से जल्द दिल्ली भवन एवं निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड में अपना पंजीकरण कराएं.

उन्होंने कहा, ‘मैं उन श्रमिकों से भी आग्रह करता हूं, जिन्हें अपने बैंक डिटेल्स के मुद्दों के कारण सहायता नहीं मिली है, इसे जल्द से जल्द अपडेट करें. वे अपने बैंक खाते के विवरण को ई-डिस्ट्रिक्ट वेबसाइट पर मुफ्त में संशोधित करवा सकते हैं. सरकार द्वारा उनके खातों में अगले भुगतान चक्र में सहायता राशि भेजी जाएगी.

यह भी पढ़ें  दिल्ली में आज से शराब के निजी ठेके रहेंगे बंद अब ऐप पर मिलेगी ठेके की जानकारी, जाने कैसे