दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने किया 7 नए Electric Vehicle चार्जिंग स्टेशनों का उद्घाटन, ये है खासियत

``` ```

Electric vehicle In Delhi: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal) ने ‘Switch Delhi’ अभियान के अंतर्गत

बुधवार 27 जुलाई को राजघाट बस डिपो (Rajghat Bus Depot) से दिल्ली में स्थित डीटीसी (DTC) के सात डिपो के अंदर तैयार किये गये चार्जिंग स्टेशनों

(Charging Stations) का उद्घाटन किया. यह चार्जिंग स्टेशन राजघाट के अलावा आईपी एस्टेट (IP Estate), कालकाजी (Kalkaji), नेहरू प्लेस (Nehru Place),

महरौली (Mehrauli), द्वारका सेक्टर-2 और द्वारका सेक्टर-8 में स्थापित किए गए हैं. इसमें तीन तरह से चार्जिंग शामिल हैं. जिसमें भारत एसी001, भारत डीसी001 और

फास्ट कंबो चार्जिंग स्टेशन हैं. तीनों चार्जिंग स्टेशन के लिए अलग-अलग व्यवस्थाएं की गई हैं, जहां दो पहिया, तीन पहिया और चार पहिया इलेक्ट्रिक वाहन चार्ज किए जा सकेंगे.

इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल को परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने चार्जिंग स्टेशनों की विशेषताओं और तकनीक के बारे में विस्तार से जानकारी दी.

अधिकारियों ने बताया कि ईवी वाहन कैसे चार्ज होते हैं और एक ईवी चार्ज होने में कितना समय लेता है. साथ ही, परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने सीएम अरविंद केजरीवाल को एक

इलेक्ट्रिक कार को चार्ज करके दिखाया. इस अवसर पर दिल्ली डीडीसी के उपाध्यक्ष जैस्मीन शाह और परिवहन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे

2020 में बनी थी दिल्ली में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स पॉलिसी


इस मौक़े पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि “आज मुझे बहुत खुशी है कि दिल्ली में डीटीसी के सात डिपो में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के लिए चार्जिंग स्टेशन शुरू किए जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें  दिल्ली वालों का सफर होगा और भी शानदार और मज़ेदार, JBM और TATA की इलेक्ट्रिक बसों के साथ। किराया बिल्कुल कम।

इनमें से एक चार्जिंग स्टेशन राजघाट डिपो है. हम सब ने यह देखा कि किस तरह से चार्जिंग स्टेशन काम करते हैं और किस तरह यहां इलेक्ट्रिक वाहन यहां चार्ज हो पाएंगे.

हम लोगों ने 2020 में दिल्ली में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स पॉलिसी बनाई थी. जब हमने पॉलिसी बनाई थी,

तब हमें उम्मीद नहीं थी कि हम लोगों को इतना जबरदस्त रिस्पॉस मिलेगा. पिछले दो साल में 60,846 इलेक्ट्रिक वाहन दिल्ली में खरीदे जा चुके हैं.”

एक साल में इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री में 115 फीसद की वृद्धि


अरविंद केजरीवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि “पिछले साल 25,809 ईवी वाहन खरीदे गए थे और इस साल अभी सात महीने ही हुए और इन सात महीनों में 29,848 वाहन खरीदे गए हैं.

पिछले साल की तुलना में इस साल इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री में 115 फीसद की वृद्धि हुई है. साल के अंत तक और ज्यादा वृद्धि हो जाएगी.

दिल्ली के लोगों ने अब इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाना शुरू कर दिया है.” अरविंद केजरीवाल ने कहा कि एक बार जब जनता अपनाना शुरू कर देती है,

तो उसके बाद अपने आप बदलाव आना शुरू हो जाता है. अब लोग धीरे-धीरे अपने पुराने वाहनों को छोड़कर इलेक्ट्रिक वाहनों की तरफ बढ़ रहे हैं.

2022 में दिल्ली में खरीदे गए 9.3 फीसदी इलेक्ट्रिक वाहन

यह भी पढ़ें  अब सिग्नेचर ब्रिज से नहीं कर पाएंगे दिल्ली का दीदार! इस वजह से प्रोजेक्ट रद्द कर सकती है सरकार

केजरीवाल ने कहा कि “2022 में दिल्ली में जितने वाहन खरीदे गए हैं, उनमें 9.3 फीसद इलेक्ट्रिक वाहन थे. इसमें सबसे ज्यादा दो पहिया इलेक्ट्रिक वाहन खरीदे जा रहे हैं.

पिछले साल के मुकाबले इस साल दो पहिया इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में 57 फीसद की वृद्धि हुई है. जैसा कि सभी जानते हैं कि हम लोग करीब 150 से अधिक इलेक्ट्रिक बसें भी खरीद चुके हैं

और अगले हफ्ते 75 इलेक्ट्रिक बसें और आ रही हैं. इसके अलावा, 2023 के अंत के दो हजार और इलेक्ट्रिक बसें दिल्ली में आ जाएंगी.

आज यह डीटीसी के सात डिपो के अंदर चार्जिंग स्टेशन शुरू हो रहे हैं. पूरी दिल्ली में अलग-अलग जगहों पर पहले ही दो हजार ईवी चार्जिंग प्वाइंट चालू हैं.

इसके अलावा आज यह सात चार्जिंग स्टेशन शुरू हो रहे हैं. सीएम ने कहा कि हमने देखा कि एक फास्ट चार्जिंग और एक स्लो चार्जिंग है.

स्लो चार्जिंग पर 3 रुपए प्रति यूनिट चार्जिंग शुल्क लिया जाएगा और फास्ट चार्जिंग पर 10 रुपए प्रति यूनिट शुल्क लिया जाएगा.

ऐप से मिलेगी खास सुविधा


सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहन मालिकों की सुविधा के लिए एक ऐप भी बनाया गया है. अगर आपके पास इलेक्ट्रिक वाहन है,

तो आप वो ऐप डाउनलोड कर लें. अगर आपको अचानक ईवी को चार्ज करने की जरूरत है, तो पूरी दिल्ली में आपके आसपास जो चार्जिंग स्टेशन होगा, यह ऐप बता देगा.

यह भी पढ़ें  दिल्ली में अगले सप्ताह मिलेगी लू से राहत, इन हिस्सों में भी होगी झमाझम बारिश, मौसम के 10 अपडेट्स

ऐप पर यह भी दिखेगा कि किस चार्जिंग स्टेशन पर अभी गाड़ियां चार्ज हो रही हैं और कौन सा स्टेशन अभी खाली है. यह ऐप बहुत ही अच्छा है

और जनता को इससे सुविधा हो रही है. मैं समझता हूं कि पूरे देश में दिल्ली में इस किस्म का पहला चार्जिंग स्टेशन है. इतनी सारी सुविधाओं से लैस

और इतना मॉडर्न चार्जिंग स्टेशन देश में और कहीं नहीं हैं. अब एक तरह से दिल्ली इलेक्ट्रिक वाहनों की राजधानी बनती जा रही है.

EV पॉलिसी आने के बाद दिल्ली में खरीदे गए 60,846 इलेक्ट्रिक वाहन


दिल्ली (Delhi) में 7 अगस्त 2020 को दिल्ली ईलेक्ट्रिक व्हीकल्स पॉलिसी (Delhi Electric Vehicles Policy) लागू हुई थी. दिल्ली में ईवी पॉलिसी को लागू हुए दो वर्ष पूरे

होने वाले हैं और इन दो वर्षों में दिल्ली में करीब 60,846 इलेक्ट्रिक वाहनों (Electric Vehicles) की बिक्री हुई है. इसमें बस 281 (0.5 फीसद), ई-रिक्शा 20819 (34.2 फीसद),

कार्ट के साथ ई-रिक्शा 6283 (10.3 फीसद), माल वाहक 20, मोटर साइकिल/स्कूटर 25346 (41.7), साइड कार के साथ मोटर साइकिल/ स्कूटर 8, मोपेड 3, मोटर कैब 1726

(2.8), मोटर कार 3215 (5.3), तीन पहिया माल वाहक 2850 (4.7), तीन पहिया सवारी वाहन 293 (0.5),

अनुकूलित वाहन एक और मोटराइज्ड साइकिल एक शामिल हैं. इस तरह दिल्ली में अभी तक कुल 60,846 इलेक्ट्रिक वाहन सड़कों पर दौड़ रहे हैं.