दिल्ली से सहारनपुर और देहरादून आना जाना हुआ आसान, बनेगा ये जाम मुक्त राजमार्ग। देखे

``` ```

अक्षरधाम मंदिर के पास एनएच-नौ से यूपी बार्डर (लोनी) तक दिल्ली-सहारनपुर राष्ट्रीय राजमार्ग 709बी के पहले चरण के निर्माण के लिए सभी तरह की स्वीकृति मिलते ही मिट्टी जांचने का काम शुरू कर दिया गया है।

धीरे-धीरे निर्माण कार्य रफ्तार पकड़ेगा। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआइ) ने ढाई साल में निर्माण पूरा करने का लक्ष्य है।

इसके बनने से सहारनपुर और देहरादून तक जाना आसान हो जाएगा, साथ ही खजूरी पुश्ता रोड और वजीराबाद रोड पर वाहनों का दबाव कम होने से इन दोनों सड़कों पर जाम की समस्या दूर हो जाएगी।भारतमाला परियोजना के तहत प्रस्तावित यह राजमार्ग 150 किलोमीटर लंबा होगा। यूपी बार्डर (लोनी) से सहारनपुर तक राजमार्ग के 140.55 किलोमीटर हिस्से का दूसरे, तीसरे और चौथे चरण का काम काफी पहले से चल रहा है।

अड़चनों के चलते अक्षरधाम मंदिर के पास एनएच-नौ से गीता कालोनी पुश्ता रोड, शास्त्रीपार्क, खजूरी खास होते हुए यूपी बार्डर (लोनी) तक पहले चरण का काम काम शुरू नहीं हो पा रहा था। पहले टेंडर प्रक्रिया कई बार होने के चलते देरी हुई। फिर राह में आ रहे पेड़ों को काटने के लिए दूसरी जगह पौधारोपण करने को जमीन नहीं मिलने की वजह से फारेस्ट क्लीयरेंस में अड़चन पैदा हो गई

यह भी पढ़ें  जानिए दिल्ली में FM से कैसे मिलेगी आपको ट्रैफिक की साऱी जानकारी,

अप्रैल 2022 में केंद्रीय आवासन एवं शहरी विकास मंत्रालय से बदरपुर एनटीपीसी के पास पौधारोपण के लिए एनएचएआइ को जमीन मिली, तब फारेस्ट क्लीयरेंस के लिए आवेदन किया गया। कुछ दिन पहले इस क्लीयरेंस के प्राप्त होते ही एनएचएआइ ने खजूरी पुश्ता रोड पर यूपी बार्डर तक कई स्थानों पर मिट्टी की जांच का काम शुरू कराया है।

मुख्य तथ्य

निर्माण में आएगी करीब 1100 करोड़ रुपये की लागत- राजमार्ग का 6.8 किलोमीटर का हिस्सा होगा एलिवेटेड- निर्माण से पहले काटे जाएंगे पांच हजार पेड़
फारेस्ट क्लीयरेंस मिल गया है। निर्माण शुरू कराने के लिए कई जगह मिट्टी की जांच का काम चल रहा है। यह जांच पूरी होते ही निर्माण कार्य गति पकड़ने लगेगा।अरविंद कुमार, डीजीएम, एनएचएआइ