दिल्ली हाईकोर्ट ने लिया एक बड़ा फैसला, एनसीआर के छात्रों को नहीं माइलेज दिल्ली के कॉलेज में आरक्षण

``` ```

Delhi College Admission गुरुग्राम से 12वीं कक्षा की पढ़ाई करने वाले दिल्ली के छात्र की याचिका पर हाई कोर्ट ने आदेश दिया है।

दिल्ली डिप्लोमा स्तर तकनीकी शिक्षा संस्थान कानून का हवाला दिया है। याचिका में दिल्ली के उम्मीदवार को उपलब्ध आरक्षण का लाभ देने की मांग की गई थी।

राष्ट्रीय राजधानी के कॉलेज में दाखिले के लिए ‘दिल्ली के उम्मीदवार’ के रूप में आरक्षण की मांग कर रहे छात्र की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने अहम व्यवस्था दी।

न्यायमूर्ति संजीव नरूला की बेंच ने कहा कि एनसीआर के स्कूलों से 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने वाले दिल्ली के विद्यार्थी

राष्ट्रीय राजधानी के कॉलेज में प्रवेश के लिए ‘दिल्ली के उम्मीदवार’ को उपलब्ध आरक्षण का लाभ नहीं ले सकते।

छात्र ने गुरुग्राम के एक स्कूल से की थी 12वीं पास

दिल्ली में रहने वाले छात्र ने गुरुग्राम के एक स्कूल से 12वीं कक्षा पास की थी। इस छात्र ने राष्ट्रीय राजधानी के एक कॉलेज में दाखिले के लिए ‘दिल्ली के उम्मीदवार’ को मिलने

यह भी पढ़ें  दिल्ली से चंडीगढ़ सहित इन 10 शहरो में चलेंगी सरकारी वोल्वो बस, किराया बिल्कुल नाममात्र देखे रूट लिस्ट।

वाले आरक्षण की मांग करते हुए याचिका दायर की थी। याचिका में बताया कि उसने पांचवीं कक्षा तक अध्ययन स्कूल की दिल्ली शाखा में किया था। उसके बाद स्कूल की गुरुग्राम शाखा से पढ़ाई की।

ऐसे में कॉलेज में दाखिले को आरक्षण का लाभ देने के मामले में अयोग्य नहीं ठहराया जाना चाहिए। इस पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति संजीव नरूला की बेंच ने कहा कि दिल्ली

डिप्लोमा स्तर तकनीकी शिक्षा संस्थान (कैपिटेशन फीस निषेध, प्रवेश विनियमन, गैर शोषणकारी फीस का निर्धारण,

समता एवं श्रेष्ठता के लिए अन्य उपाय) कानून में ‘दिल्ली के उम्मीदवार’ की परिभाषा स्पष्ट है।

इसका तात्पर्य ऐसे अभ्यर्थी से है, जिसने दिल्ली स्थित किसी मान्यता प्राप्त विद्यालय या संस्थान से पढ़ाई की है। बेंच ने

कहा कि गुरुग्राम स्थित स्कूल एक शाखा नहीं है, बल्कि हरियाणा सरकार से मान्यता प्राप्त अलग स्कूल है।