दिल्‍ली-मेरठ एक्‍सप्रेस वे होगा अब जाम मुक्त,14 सितंबर को आरओबी वाहनों के आवागमन के लिए खोल दिया जाएगा।

``` ```

Delhi Meerut Expressway दिल्‍ली मेरठ एक्सप्रेस-वे पर डासना-यूपी गेट के बीच चिपियाना में तैयार हुआ चार लेन का अंतिम आरओबी।

दिल्ली से मेरठ की तरफ आते समय लगता है जाम क्योंकि संकरा हो जाता है मार्ग। 14 सितंबर से आरओबी खुल जाएगा।

दिल्‍ली-मेरठ एक्‍सप्रेस वे पर सफर करने वालों के लिए राहत देने वाली है। दिल्ली से मेरठ आने की तरफ एक्सप्रेस-वे पर गाजियाबाद के चिपियाना में अब जाम की समस्या खत्म हो

जाएगी। जिस आरओबी का कई साल से इंतजार था, उसे खोलने की घड़ी आ गई है। 14 सितंबर को यहां का अंतिम आरओबी वाहनों के आवागमन के लिए खोल दिया जाएगा।

14 लेन की सड़क 12 सितंबर को लोड टेस्ट किया जाएगा। दिल्ली से डासना के बीच कुल 14 लेन की सड़क है। इसमें दोनों तरफ किनारे चार लेन का राष्ट्रीय राजमार्ग (हाईवे संख्या-नौ) है और उनके बीच

में छह लेन का एक्सप्रेस-वे (दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे) है। चिपियाना में बरसों पुराना चार लेन का आरओबी था, जिसका विस्तार करके 15 लेन का किया गया है।

यह भी पढ़ें  गुरुग्राम से सोहना हाईवे के टोल टैक्स मे हुई बढ़ोतरी, के कारण अब सफर पड़ेगा महंगा

मेरठ से दिल्ली जाने की दिशा में चिपियाना में हाईवे और एक्सप्रेस-वे के हिस्से वाले आरओबी काफी समय पहले तैयार हो गए थे, इसलिए उस तरफ जाम नहीं लगता है और आवागमन तेजी से होता है।

वाहनों का दबाव दिल्ली से मेरठ आने की तरफ एक्सप्रेस-वे के हिस्से का आरओबी तैयार है, जिस पर आवागमन जारी है लेकिन इसके बराबर में हाईवे के हिस्से वाला आरओबी तैयार करने में सबसे

ज्यादा समय लगा। इसलिए उस तरफ हाईवे के हिस्से वाले वाहन एक्सप्रेस-वे की लेन पर चले जाते हैं, इसकी वजह से वाहनों का दबाव बढ़ जाता है जिससे जाम लगता रहता है।

दिल्ली से मेरठ आने की तरफ एक्सप्रेस-वे के हिस्से का आरओबी तैयार है, जिस पर आवागमन जारी है लेकिन इसके बराबर में हाईवे के हिस्से वाला आरओबी तैयार करने में सबसे

ज्यादा समय लगा। इसलिए उस तरफ हाईवे के हिस्से वाले वाहन एक्सप्रेस-वे की लेन पर चले जाते हैं, इसकी वजह से वाहनों का दबाव बढ़ जाता है जिससे जाम लगता रहता है।

इनका कहना है 14 अगस्त को आरओबी पर कंक्रीट की छत डाल दी गई थी। उसे मजबूती के लिए 28 दिन देने होते हैं। इसके अनुसार 12

यह भी पढ़ें  दिल्ली के यात्रियों को होगी मुरादाबाद जाने मे सहूलियत मंडल में 10 नई रोडवेज बसों का हुआ शुभारंभ

को लोड टेस्ट करके डामर की परत डाल दी जाएगी। फिर 72 घंटे बाद आवागमन के लिए ब्रिज खोल दिया जाएगा।