दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे हुआ टोल फ्री, इतने दिन तक देख लीजिए।

``` ```

कांवड़ यात्रा 2022 अब पूरे जोरों पर हैं। हरिद्वार से कांवड़ में जल भरकर करीब 90 लाख कांवड़ियां अपने गंतव्य की ओर निकल चुका है। दिल्ली हरिद्वार हाइवे 58 पर इस समय चारों ओर कांवड़ियां दिखाई दे रहे हैं। पूरा हाइवे भगवा रंग में रंग गया है।

वहीं दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे पर भी कांवड़ियों की बड़ी संख्या में भीड़ उमड़ रही है जो कि हरिद्वार की ओर जा रहे हैं। दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे पर मेरठ जिला प्रशासन ने दिल्ली की ओर से आने वाले बड़े वाहनों पर रोक लगा दी है। वहीं इस एक्सप्रेस वे से गुजरने वाले ट्रैफिक को भी डायवर्ट कर दिया है।


काशी टोल प्लाजा पर टोल टैक्स वसूलने वाली कंपनी पार्थ इंडिया के मैनेजर कैलाश चंद ने बताया कि मेरठ से दिल्ली जाने वाले और दिल्ली से मेरठ आने वाले कांवड़ियों से किसी प्रकार का टोल नहीं वसूला जाएगा। उन्होंने बताया कि ये व्यवस्था शिवरात्रि तक उपलब्ध रहेगी।

यह भी पढ़ें  देशभर में कच्चा तेल सस्ता होने के बाद भी, क्या पेट्रोल- डीजल के रेट में मिलेगी राहत?

इसी तरह से दिल्ली-हरिद्वार हाइवे 58 पर स्थित सिवाया टोल प्लाजा को भी अब फ्री कर दिया गया है। सिवाया टोल प्लाजा पर भी 22 जुलाई के बाद किसी प्रकार का टोल कांवड़ियों के वाहनों से नहीं लिया जाएगा। इसके अलावा कांवड़ियों की भारी भीड़ को देखते हुए 24 जुलाई से यह पूरी तरह से टोल टैक्स मुक्त कर दिया जाएगा।

सिवाया टोल प्लाजा पर भी टोल टैक्स मुक्त होने की ये व्यवस्था शिवरात्रि तक रही रहेगी। जिलाधिरी मेरठ दीपक मीणा ने कांवड़ियों की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरा लगाने के निर्देश दिए हैं।

कांवड़ियों की संख्या बढ़ते देख एनएच-58 हाईवे पर बुधवार रात से हल्के वाहनों को सिर्फ डिवाइडर के एक तरफ चलने की अनुमति देने का फैसला किया गया है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हाईवे पर भारी वाहनों अब पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिए गए हैं। दिल्ली हरिद्वार नेशनल हाईवे 58 पर सिवाया टोल प्लाजा पड़ता है। इसके बाद दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे पर काशी टोल प्लाजा है।

यह भी पढ़ें  दिल्ली की सड़कों पर लागू हुआ मास्टर प्लान साथ ही बढ़े पार्किंग रेट, नियमो का उलंघन पड़ेगा महंगा