दिल्ली मेट्रो में सफर करने वाले ध्यान दें, आपके समय की खूब हो रही बचत; यकीन न हो तो जान लें

``` ```

दिल्ली मेट्रो के यात्रियों के लिए अच्छी खबर है, क्योंकि पिछले साल उनके यात्रा समय में काफी बचत हुई है. यानी उन्हें सफर के दौरान बहुत समय व्यतीत नहीं करना पड़ा है. दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने मंगलवार को कहा कि दिल्ली मेट्रो ने पिछले साल अपने यात्रियों को कुल मिलाकर 26.9 करोड़ घंटे का यात्रा समय बचाने में मदद की है.

दिल्ली मेट्रो में सफर करने वालों के लिए एक तरह से राहत भरी खबर है, क्योंकि उनके सफर में समय की काफी बचत हो रही है. दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने मंगलवार को कहा कि दिल्ली मेट्रो ने पिछले साल अपने यात्रियों को कुल मिलाकर 26.9 करोड़ घंटे का यात्रा समय बचाने में मदद की है. द एनर्जी रिसर्च इंस्टीट्यूट (टीईआरआई) द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार, यात्रियों के वार्षिक समय की बचत 2031 में दोगुना से अधिक करीब 57.25 करोड़ घंटे होगी. यह आंकड़े इसलिए भी महत्वपूर्ण हैं क्योंकि देश भर के शहरों में यात्रा करते समय लोगों द्वारा सड़क पर लगने वाले समय में लगातार वृद्धि हो रही है.

यह भी पढ़ें  दिल्ली में रमजान को लेकर अपने कर्मचारियों को दिया बड़ा तोहफा। जानकर खुश हो जाएंगे आप

न्यू इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, इतना ही नहीं, दिल्ली मेट्रो की वजह से दिल्ली की सड़कों पर गाड़ियों की भीड़ भी कमी है. डीएमआरसी ने 2021 में राष्ट्रीय राजधानी की सड़कों से रोजाना 5 लाख से अधिक वाहनों को हटाने में मदद की. डीएमआरसी की ओरे से बयान में कहा गया कि यह आंकड़ा भी 2019 की तुलना में करीब 4.74 लाख अधिक है. इतना ही नहीं, दिल्ली मेट्रो की वजह से वातावरण से करीब सात लाख टन प्रदूषकों को हटाने में भी मदद मिली है, क्योंकि कई यात्री अपने निजी वाहनों को घर पर रखते हुए मेट्रो का उपयोग करते हैं.

जब पर्यावरण की देखभाल की बात आती है तो दिल्ली मेट्रो सबसे जिम्मेदार संगठनों में से एक रही है. यह यानी डीएमआरसी लगभग 37 मेगावाट की वर्तमान क्षमता के साथ सौर ऊर्जा उत्पादन में भी अग्रणी है. दिल्ली मेट्रो अपने अनूठे प्रयासों के कारण कार्बन क्रेडिट का दावा करने वाला दुनिया का पहला रेल आधारित संगठन बना हुआ है.

यह भी पढ़ें  इरादा कर लिया है, हम इन्हें ऐसा पढ़ाएंगे…’. दिल्ली सरकार ने लॉन्च किया शिक्षा गीत, जो समझाएगा शिक्षा का असली मकसद: अरविंद केजरीवाल।

बता दें कि डीएमआरसी नेटवर्क की वर्तमान अवधि 286 स्टेशनों के साथ लगभग 392 किमी है, जिनमें नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो कॉरिडोर और गुरुग्राम रैपिड मेट्रो भी शामिल हैं. यहां यह भी बताना जरूरी है कि कोरोना काल से पहले तक दिल्ली मेट्रो में रोजाना 50 लाख से अधिक यात्री सफर किया करते थे.