दिल्ली से मेरठ तक सफर होगा शानदार, रैपिड रेल के साथ, ये ये स्टेशन होंगे शामिल जानिए।

``` ```

दिल्‍ली से मेरठ से बीच चलने वाली देश की पहली रैपिड रेल के ट्रायल की तैयारी शुरू हो चुकी है. अगले माह गुजरात से रैपिड रेल के कोच गाजियाबाद पहुंच जाएंगे. इन कोचों की गाजियाबाद के दुहाई डिपो में असेंबलिंग की जाएगी. जिसमें करीब एक माह का समय लगेगा. इसके बाद ट्रायल के लिए ट्रैक में उतारा जाएगा. इस तरह संभावना है कि जून के आखिरी सप्‍ताह में रैपिड रेल का ट्रायल शुरू हो जाएगा.

अधिकारी पुनीत वत्स ने बताया कि रैपिड रेल के मोटर और ट्रेलर कोच का निर्माण गुजरात में किया जा रहा है. दिल्ली से मेरठ के बीच 30 रैपिड रेल का संचालन किया जाएगा. मई के दूसरे सप्ताह में गुजरात से मोटर कोच और ट्रेलर कोच दुहाई डिपो में लाए जाएंगे, यहां असेंबलिंग कर रैपिड रेल तैयार की जाएगी. एक ट्रेन में चार मोटर और दो ट्रेलर कोच होंगे. इस तरह छह कोच की इस रेल में एक कोच महिलाओं के लिए और एक कोच प्रीमियम क्लास के लिए होगा. चार स्टैंडर्ड कोच यानी सामान्‍य कोच होंगे.

यह भी पढ़ें  दिल्ली वालों को मिलेगा बिजली के बिलों को देखकर झटका, आइये विस्तार से समझे


मुख्‍य जनसंपर्क अधिकारी के अनुसार असेंबलिंग का कार्य पूरा होने के बाद सुरक्षा मानकों और सिग्‍नल की जांच की जाएगी. इसके बाद ट्रायल के लिए रैपिड रेल को वायडक्ट यानी ट्रैक पर लाया जाएगा और निर्धारित स्पीड पर रेल चलाकर जांच की जाएगी. ट्रायल पूरा होने के बाद रैपिड ट्रेन के संचालन को हरी झंडी दी जाएगी. मार्च 2023 में साहिबाबाद से दुहाई के बीच और मार्च 2025 में दिल्ली से मेरठ के बीच रैपिड रेल का संचालन किया जाएगा. पुनीत वत्स ने बताया कि प्राथमिक खंड में सिविल का कार्य लगभग पूरा होने वाला है. आखिरी स्पैन मंगलवार को स्थापित कर दिया गया है.

रैपिड रेल पर एक नजर
.

आठ मार्च 2019 को आरआरटीएस कारिडोर का शिलान्यास किया गया.

.जून 2019 में सिविल निर्माण का कार्य शुरू किया गया.

.प्राथमिक खंड में सिविल का कार्य 90 प्रतिशत तक पूरा हो चुका है.

.प्राथमिक खंड में साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर, दुहाई और दुहाई डिपो स्टेशन होंगे

यह भी पढ़ें  दिल्ली सरकार ने 15 साल पुराने वाहनों के लिए जारी किया नया प्लान, नहीं बनेंगे वाहन अब कबाड़