दिल्ली से मेरठ के बीच 180 किमी की स्पीड से दौड़ेगी, बुलेट ट्रेन में मिलेगी हवाई यात्रा की फीलिंग। जानिए खासियत।

``` ```

दिल्ली-मेरठ के लोगों का सफर आसान होने जा रहा है। देश की पहली रीजनल रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम (RRTS) हाईस्पीड ट्रेन 100 किमी प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ेगी। मेरठ-दिल्ली के बीच की दूरी को महज एक घंटे में पूरी करने वाली रैपिड रेल का पहला कोच बनकर तैयार है।

हवाई यात्रा का अहसास कराने वाली इस ट्रेन में फ्री वाईफाई, चार्जिंग स्टेशन, डायनामिक रूट मैप के साथ ढेरों सुविधाएं भी यात्रियों को मिलेंगी।

7 मई को हैंडओवर होगा पहला कोच


7 मई को भारत सरकार के शहरी मामलों के मंत्रालय के सचिव की मौजूदगी में यह कोच NCRTC (राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्रीय परिवहन निगम) को सौंपा जाएगा। मेक इन इंडिया के तहत पूरा कोच गुजरात, सावली के एल्सटॉम में बनकर तैयार हुआ है

दुहाई डिपो में इंस्टॉल होगा पहला कोच

एल्स्टॉम से कोच मिलने के बाद इसे बड़े ट्रेलरों के जरिए दुहाई डिपो में लाया जाएगा। गाजियाबाद में दिल्ली-मेरठ RRTS कॉरिडोर बनाया जा रहा है। एलस्टॉम RRTS कॉरिडोर के लिए कुल 210 कोच की डिलीवरी करेगा। इसमें दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ कॉरिडोर पर क्षेत्रीय परिवहन सेवाओं के संचालन और मेरठ में स्थानीय मेट्रो सेवाओं के लिए ट्रेन सेट शामिल है

यह भी पढ़ें  दिल्ली-NCR में होंगे कल से ये 5 बड़े बदलाव, जिनका आपकी जेब पर पड़ेगा असर, जाने कौन से हैं बदलाव

दिसंबर तक फर्स्ट रन ट्रायल

2022 के अंत तक रैपिड का फर्स्ट ट्रायल रन शुरू होगा। साहिबाबाद से दुहाई के बीच 17 किलोमीटर के प्रायोरिटी सेक्शन को 2023 तक और पूरे कॉरिडोर को 2025 तक चालू करने का प्लान है

100 किमी प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ेगी ट्रेन

दिल्ली से मेरठ के बीच चलने वाली रैपिड ट्रेन 180 किमी/घंटे की डिजाइन स्पीड, 160 किमी/घंटे की ऑपरेशनल स्पीड और 100 किमी/घंटे की ऐवरेज स्पीड के साथ दौड़ेगी। जो भारत में RRTS की अब तक की सबसे तेज ट्रेन होगी।


रैपिड ट्रेन में खड़े होने के लिए चौड़ा स्पेस, लगेज रैक, सीसीटीवी कैमरे, लैपटॉप और मोबाइल चार्जिंग सुविधा होगी। डायनामिक रूट मैप, ऑटो कंट्रोल एम्बिएंट लाइटिंग सिस्टम, हीटिंग वेंटिलेशन और एयर कंडीशनिंग सिस्टम (HVAC) भी होगा।


हर ट्रेन में एक प्रीमियम वर्ग का कोच होगा और एक कोच महिलाओं के लिए भी रिजर्व होगा। शुरुआत में हर रैपिड रेल में 6 कोच होंगे। बाद में तीन कोच बढ़ाए जा सकते हैं। यात्रियों की सुविधाओं के लिए रैपिड रेल कोच में आरामदायक स्टैंडिंग स्पेस लगेज रैक लगाई गई है।

यह भी पढ़ें  टंकी फूल करवाने से पहले ध्यान दे. घट सकता हैं 20 रुपया तक पेट्रोल प्रति लीटर


कॉरिडोर में कुल 25 स्टेशन होंगे



दिल्ली-मेरठ हाई स्पीड ट्रेन कॉरिडोर में ट्रेन दिल्ली के सराय काले खां स्टेशन शुरू होगी। इस कॉरिडोर में कुल 25 स्टेशन होंगे। सराय काले खां से ट्रेन न्यू अशोक नगर और आनंद विहार स्टेशन के बाद यूपी में प्रवेश कर जाएगी। यहां से साहिबाबाद, गाजियाबाद, दुहाई, मुरादनगर, मोदीनगर साउथ, मोदीनगर नॉर्थ, मेरठ साउथ, परतापुर, रिठानी, शताब्दी नगर, ब्रह्मपुरी, मेरठ सेंट्रल, भैंसाली, बेगमपुल, एमईएस कॉलोनी, मेरठ नॉर्थ से होती हुई मोदीपुरम तक जाएगी।