दिल्ली वासियों को जल्द मिलेगा 17 KM का सिग्नल फ्री रूट , इस नए फ्लाईओवर के साथ, 6 लेन के सड़क का जानिए नया रूट

``` ```

पंजाबी बाग और राजा गार्डन फ्लाईओवर डबलिंग प्रोजेक्ट का गुरुवार को पीडब्ल्यूडी मंत्री मनीष सिसोदिया ने शिलान्यास किया। प्रोजेक्ट पर करीब 352.3 करोड़ रुपये खर्च होगा।

प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद धौलाकुआं से आजादपुर तक रिंग रोड का करीब 17 किमी लंबा स्ट्रेच सिग्नल फ्री हो जाएगा और लोगों को जाम से काफी राहत मिलेगी।राजा गार्डन और

पंजाबी बाग फ्लाईओवर 2-2 लेन का सिंगल-वे है जिसे चौड़ा कर 4-4 लेन और बढ़ाया जाएगा। इससे दोनों फ्लाईओवर 6-6 लेन के हो जाएंगे। फ्लाईओवर डबलिंग का काम 18

महीनों में पूरा करने का डेडलाइन तय किया गया है। फ्लाईओवर 6-6 लेन होने से रोहिणी, पीतमपुरा व शालीमार बाग से रिंग रोड से वेस्ट दिल्ली या नॉर्थ-वेस्ट दिल्ली आनेजाने

वालों की राह असान हो जाएगी। पंजाबी बाग क्लब और मोती नगर जंक्शन के पास बने वनवे (2 लेन) है।पंजाबी बाग क्लब जंक्शन के पास मौजूदा फ्लाईओवर 2 लेन का है,

जिसकी चौड़ाई 4 लेन और बढ़ाई जाएगी। इसके अलावा इस फ्लाईओवर की लंबाई बढ़ा कर 1.054 किमी की जाएगी, जो नजफगढ़ ड्रेन को क्रॉस करेगा।

यह भी पढ़ें  दिल्ली के लोगों को मिलीं 150 इलेक्ट्रिक बसें, इन 3 दिन किसी भी रूट पर कर सकते है मुफ्त सफर।

मोती नगर जंक्शन पर बने फ्लाईओवर की लंबाई करीब 444 मीटर है। इस फ्लाईओवर के समानांतर ही दूसरा 4 लेन चौड़ा फ्लाईओवर बनाया जाएगा।

नए फ्लाईओवरों से जनता को होने वाले लाभ

इस दोनों फ्लाईओवर से प्रतिदिन 1.25 लाख वाहन गुजरेंगे
प्रतिवर्ष 18 लाख लीटर ईधन की होगी बचत
जाम न लगने से 27,000 मैन-ऑवर की होगी बचत


हर साल 1.60 लाख टन कार्बन गैस का उत्सर्जन कम होगा
हर साल जनता के 200 करोड़ रूपये की बचत होगी
1.5 साल में पूरी तरह फ्लाईओवर की लागत की रिकवरी हो जाएगी

2.7 किमी तक जाम पूरी तरह से खत्म हो जाएगा
दोनों फ्लाईओवर के बनने के बाद रिंग रोड पर राजा गार्डन से लेकर मोती नगर जंक्श्न तक करीब 2.7 किमी दूरी में जाम की समस्या पूरी तरह से खत्म हो जाएगी।

इन दोनों फ्लाईओवर के बनने के बाद धौलाकुआं से लेकर आजादपुर तक रिंग रोड का करीब 17 किमी लंबा स्ट्रेच पूरी तरह से सिग्नल फ्री भी हो जाएगा। इससे लोकल एरिया को

यह भी पढ़ें  दिल्ली से हरियाणा के शहर कालका के बीच पैसेंजर ट्रेन का आवागमन हुआ शुरू , देखे रूट लिस्ट

कनेक्ट करने वाली आरटेरियल रोड पर भी जाम नहीं लगेगा। दोनों जगह पर फ्लाईओवर बनने के बाद करीब दो दर्जन से

अधिक इलाकों में रहने वाले लोगों को इससे फायदा होगा। वर्तमान में इन दोनों फ्लाई ओवर से रोजाना करीब 1.25 लाख ट्रैफिक गुजरती है।