दिल्ली की 16 सड़कों का होगा मॉडिफिकेशन दुबई सिंगापुर और लन्दन जैसे देशों की सड़को की तरह होंगी चौड़ी

``` ```

Delhi News कुल 16 खंडों में से 11 अक्टूबर और दो नवंबर और दिसंबर तक तैयार होंगे।दिसंबर तक तैयार होने वाले सड़क खंड में विकास मार्ग पर लक्ष्मी नगर चुंगी से

कड़कड़ी मोड़ और नरवाना रोड पर मदर डेयरी से पंच महल निवास तक हिस्सा शामिल। अंतरराष्ट्रीय मानकों के तहत सड़कों के पुनर्विकास की तैयार की गईं 16 पायलेट

परियोजनाओं (सड़क खंड नमूनों) के रखरखाव के लिए दिल्ली सरकार एजेंसी लगाएगी। एजेंसी इन खंड़ों की देखभाल करेगी, पेड़ पौधों का रखरखाव करेगी, इन खंडों में लगाए जा

रहे ग्रेनाइट आदि की साफ सफाई करेगी और सुरक्षा कर्मी भी लगाएगी जो इन खंड़ों की निगरानी कर सकेंगे।अक्टूबर तक 16 में से नौ सड़क खंड तैयार हो रहे हैं,

अन्य खंड दिसंबर तक तैयार किए जाने का लोक निर्माण विभाग पीडब्ल्यूडी का लक्ष्य है।इन खंडों के आधार पर दिल्ली में 540 किलोमीटर तक सड़कों को अंतरराष्ट्रीय मानकों के

तहत विकसित किया जाएगा।पायलट प्रोजेक्ट के तहत लोक निर्माण विभाग 32.5 किलोमीटर लंबी सडक़ों कर दशा ठीक कर रहा है।

विभाग मान रहा है कि इन सड़क खंड नमूनों की अगर देखरेख नहीं की गई तो इससे नुकसान हो सकता है।विभाग की मानें तो दक्ष्रिणी दिल्ली में कुछ मामले ऐसे सामने आए हैं कि

यह भी पढ़ें  दिल्ली रेलवे स्टेशन पर रेल कोच रेस्तरां में मुफ्त उठा सकेंगे खाने का आनंद, नही लगेगा कोई टिकट।

सड़कों पर लगाए गए पेड़ पौधे भी उखाड़ ले गए हैं। कुछ मामलों में काम वाले भी शामिल थे।दूसरा विकसित की गईं सुविधाओं का रखरखाव नहीं किया गया साफ सफाई नहीं

रखी गई ताे सड़कों को सुंदर बनाए रख पाना आसान नहीं नहीं होगा।इन्हीं सब समस्याओं को देखते हुए लोक निर्माण विभाग विकसित की गईं इन सुविधाओं के लिए एजेंसी रखने

की तैयारी में है।कुल 16 खंडों में से 11 अक्टूबर और दो नवंबर और दिसंबर तक तैयार होंगे।दिसंबर तक तैयार होने वाले सड़क खंड में विकास मार्ग पर लक्ष्मी नगर चुंगी से

कड़कड़ी मोड़ और नरवाना रोड पर मदर डेयरी से पंच महल निवास तक हिस्सा शामिल।इन दोनों खंडों से कोर्ट का स्टे हट गया है और अब काम शुरू हो गया है। योजना के तहत लोक

निर्माण विभाग की कुल 1259 किलोमीटर सड़कों में से 540 किलोमीटर लंबी सडक़ों को अंतरराष्ट्रीय मानकों के आधार पर तैयार किया जाना है।

यह भी पढ़ें  दिल्ली मे डीटीसी बसों ने किया स्कूलों को सुविधा देने से इंकार

इसके लिए नमूने के तौर पर ये 16 सड़क खंड तैयार किए जा रहे हैं।दुबई, सिंगापुर व लंदन जैसे देशों की तर्ज पर सडक़ों के किनारे हरियाली और अन्य सुविधाएं विकसित की जा रही हैं। इस परियोजना को 31 दिसंबर तक पूरा कर लिया जाना है।

31 अक्टूबर तक तैयार हो रहीं ये परियोजनाएं रिंग रोड मायापुरी से मोती बाग जंक्शन-मूलचंद से आश्रम तक रिंग रोड वजीराबाद गांव से रिंग रोड तक शिवदासपुरी मार्ग और पटेल रोड (मोती नगर टी-प्वाइंट से पूसा रोड तक) नेल्सन

मंडेला सड़क पर मुनीरिका से एंबिएंस माल तक टीकरी बार्डर से टीकरी मेट्रो स्टेशन तक अरबिंदो मार्ग रोड नंबर 51 (मजलिस पार्क मेट्रो स्टेशन रोड) दिल्ली का रोड नंबर 58

(कड़कड़डूमा कोर्ट रोड से जीटी रोड रेलवे लाइन अंडरपास तक) केएन काटजू रोड लोधी रोड- इंडिया हैबिटेट सेंटर के सामने रिंग रोड पर राजघाट से शांतिवन लाल बत्ती तक
30 नवंबर तक तैयार होंगी ये परियोजनाएं

ब्रिटानिया चौक से आउटर रिंग रोड,वेस्ट एन्क्लेव व पीतमपुर- वजीरपुर डिपो क्रासिंग (एनएसपी) से रिठाला मेट्रो स्टेशन31 दिसंबर तक तैयार होंगी ये परियोजनाएं विकास मार्ग-लक्ष्मी नगर चुंगी से कड़कड़ी मोड़-नरवाना रोड- मदर डेयरी से पंच महल निवास

यह भी पढ़ें  दिल्ली सरकार ने लोगो को जाम का अलर्ट देने के लिए 86 जगहों पर लगवाई LED स्क्रीन,जनता को होगा फायदा