दिल्ली की केजरवील सरकार का दिवाली पर तोहफा, मजदूरों का बढ़ाया न्यूनतम वेतन

``` ```

Delhi Laborer Minimum Wage: दिल्ली सरकार ने दिवाली से पहले मजदूरों का न्यूनतम वेतन बढ़ाते हुए उन्हें तोहफा दिया है. दिल्ली की केजरवील सरकार द्वारा मजदूरों

का बढ़ा हुआ वेतन 1 अक्टूबर से लागू होगा. अब मजदूरों के न्यूनतम वेतन में हुई वृद्धि के बाद अकुशल मजदूरों का मासिक वेतन 16506 से बढ़कर 16792 रुपये, अर्ध-कुशल मजदूरों

का मासिक वेतन 18,187 से बढ़कर 18,499 रुपये, कुशल मजदूरों का वेतन 20,019 से बढ़कर 20,357 रुपये होगा. दिल्ली सरकार ने राजधानी के अकुशल, अर्ध कुशल और

अन्य श्रमिकों का महंगाई भत्ता बढ़ाने का आदेश जारी किया है.दिल्ली सरकार द्वारा मजदूरों की न्यूनतम वेतन में वृद्धि को लेकर उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि न्यूनतम वेतन

में वृद्धि से महंगाई से पीड़ित मजदूर वर्ग को राहत मिलेगी. मनीष सिसोदिया ने दावा किया कि दिल्ली सरकार देश में मजदूरों को सबसे ज्यादा न्यूनतम मजदूरी देती है.

दिल्ली सरकार के इस फैसले से सभी अनुसूचित रोजगार श्रेणियों में अकुशल, अर्ध-कुशल, कुशल और अन्य श्रमिकों को लाभ होगा.

यह भी पढ़ें  दिल्ली,नोएडा और गुडगाँव में लगातार हो रहे पॉवर कट के कारण जनता हुई बेहाल जानिए क्या है कारण

इसके साथ ही डिप्टी सीएम ने कहा कि दिल्ली में न्यूनतम मजदूरी किसी भी अन्य राज्यों की तुलना में सबसे ज्यादा है. सिसोदिया ने कहा कि असंगठित क्षेत्र में न्यूनतम मजदूरी पर

कार्यरत लोगों को भी महंगाई भत्ते का लाभ मिलना चाहिए, जो आमतौर पर राज्य और केंद्र सरकार के कर्मचारियों को दिया जाता है. दिल्ली सरकार सभी कर्मचारियों को महंगाई से राहत देने के लिए हर छह महीने में महंगाई भत्ते में संशोधन कर रही है.


दिल्ली सरकार ने मई 2022 में भी बढ़ाया था न्यूनतम वेतन

इससे पहले दिल्ली सरकार ने मई 2022 में भी मजदूरों का न्यूनतम वेतन बढ़ाया था. इस दौरान अकुशल मजदूरों के मासिक वेतन को 16064 रुपये से बढ़ाकर 16506 रुपये

करते हुए 442 रुपये की बढ़ोतरी की थी. वहीं अर्ध कुशल मजदूरों के मासिक वेतन को 17693 रुपये से 18187 रुपये और कुशल मजदूरों के मासिक वेतन को 19473 रुपये से बढ़ाकर 20019 रुपये किया था.

यह भी पढ़ें  Honda Activa के इस स्कूटर ने मार्किट मे दूसरे ब्रांड्स को किया फ़ैल, जाने ऐसा क्या है खास क्यों बना ये स्कूटर नंबर 1