DMRC के 6नए मेट्रो स्टेशन होंगे प्रस्तावित कॉरिडोर के रूट पर Aqua Line, Blue Line, Mazenta lineआपस में जुड़ेगी

``` ```

एक्वा मेट्रो लाइन (Metro Line) के सेक्टर-142 स्टेशन को ब्लू लाइन (Blue Line) और मजेंटा लाइन के बॉटेनिकल गार्डन (Botanical Garden) स्टेशन से जोड़ने की योजना

पर काम चल रहा है. योजना की डीपीआर (DPR) को हरी झंडी मिलने से पहले उसमे एक बड़ा बदलाव किया गया है. कॉरिडोर को नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे के पास से

निकालने के बजाए अब रेजिडेंशियल इलाके (Residential Area) से ले जाने की तैयारी हो रही है. इससे सेक्टर्स में रहने वालों को बड़ा फायदा होगा. यह कॉरिडोर 12 किमी से ज्यादा

होगा.नोएडा. दिल्ली (Delhi), नोएडा (Noida) के बीच मेट्रो से सफर करने वालों को जल्द एक बड़ी खुशखबरी मिल सकती है. मेट्रो ट्रेन (Metro Train) की लाइन अब उनके

घर के सामने से होकर या फिर सेक्टर के बीच से होकर गुजरेगी. इस संबंध में दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) ने डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार कर ली है.

डीपीआर नोएडा मेट्रो रेल निगम (NMRC) को सौंप दी गई है. रिपोर्ट में 4 रूट सुझाए गए हैं. गौरतलब रहे एक्वा मेट्रो लाइन के सेक्टर-142 स्टेशन को ब्लू और मजेंटा लाइन के

यह भी पढ़ें  खुशखबरी दिल्ली मे LPG Cylinder के दामों मे हुई कटौती, गैस सिलेंडर के नए रेट्स यहां जानें

बॉटेनिकल गार्डन (Botanical Garden) स्टेशन से जोड़ने के लिए एक कॉरिडोर बनाने की योजना पर काम चल रहा है.

पहले इस कॉरिडोर को नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे (Noida-Greater Noida Expressway) के बराबर से ले जाने की योजना थी.

अभी यह स्टेशन होंगे कॉरिडोर में शामिल

एनएमआरसी से जुड़े सूत्रों की मानें तो सेक्टर-142 स्टेशन को ब्लू और मजेंटा लाइन के बॉटेनिकल गार्डन स्टेशन के बीच कॉरिडोर में पहले 6 स्टेशन शामिल किए गए हैं. सभी 6 स्टेशन सेक्टर-136, 125, 93, 98, 91, 94 का नाम आ रहा था.

एनएमआरसी और डीएमआरसी के अफसरों बीच हुई बैठक में कॉरिडोर के रूट बदलने को लेकर विचार हुआ है. जानकारों की मानें तो नए रूट में नोएडा एक्सप्रेसवे को शामिल न कर

आवासीय सेक्टर्स को शामिल किया जाएगा. नए कॉरिडोर में स्टेशन की संख्या भी बढ़ जाएगी.इस कॉरिडोर से एक्वा, मजेंटा और ब्ल्यू लाइन के करीब 10 लाख लोगों को फायदा पहुंचेगा.

अभी तक बॉटेनिकल गॉर्डन से ग्रेटर नोएडा वेस्ट आने के लिए पहले नोएडा आना पड़ता है. सूत्रों की मानें तो नए प्लान में संभावित रूट सेक्टर-142 से सेक्टर-91, 108, 47, 46 को

यह भी पढ़ें  दिल्ली मे अब कट सकता है वाहन चालकों का 10 हजार का चालान, अगर नहीं होगा ये सर्टिफिकेट

शामिल किया जा सकता है. एनएमआरसी की प्रबंध निदेशक रितु माहेश्वरी ने अलाइमेंट में बदलाव के लिए फिर से सर्वे के निर्देश दिए थे, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग मेट्रो से सफर कर सकें.

ग्रेटर नोएडा-नोएडा से सीधे जा सकेंगे दिल्ली, फरीदाबाद और गुरुग्राम

ग्रेटर नोएडा सेक्टर-142 की तरफ से आने वाले यात्री एक्वा लाइन बॉटेनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन तक आएगी. यहां पर आकर यात्री ब्लू और मजेंटा लाइनों की मदद से सीधे दिल्ली,

फरीदाबाद और गुरुग्राम तक जा सकेंगे. वहीं दूसरी ओर दिल्ली से आकर नोएडा और ग्रेटर नोएडा के लिए भी सीधी जाने वाली मेट्रो ट्रेन मिलेगी. इससे करीब 30 हजार यात्रियों

को फायदा मिलेगा. वहीं ग्रेटर नोएडा वेस्ट जाने के लिए पहले मेट्रो से नोएडा और नोएडा से ऑटो-कैब लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी.