दिल्ली में बढ़ी इलेक्ट्रिक बस सेवा, इन निर्धारित रूटों पर चलेगी लिस्ट जारी, किराया होगा नाममात्र।

``` ```

ई-बसों की संख्या में बढ़ोतरी से दिल्ली ईवी राजधानी बनने की तरफ ओर तेजी से बढ़ेगी। प्रदूषण कम होने के साथ ही यात्रियों को आधुनिक सुविधाओं से युक्त बसों में सफर का भी मौका मिल सकेगा। इसी महीने दिल्ली की सड़कों पर 60 से अधिक ई-बसें दूसरे मार्गों पर भी चलाई जाएंगी।

इलेक्ट्रिक बसों के परिचालन के लिए कुछ बस डिपो में चार्जिंग के लिए जरूरी सुविधाएं भी विकसित कर ली गई हैं। ई-बसों के परिचालन से प्रदूषण नहीं होगा और ध्वनि प्रदूषण में भी कमी आएगी। इसी सप्ताह सड़कों पर ई-ऑटो उतारे गए हैं। इसके बाद 60 से अधिक ई-बसों के होने से नए रूट पर भी यात्रियों को पुराने किराये में ही ई-बस में सफर का मौका मिलने लगेगा।

पहले चरण में दौड़ेंगी 300 ई-बसें
दिल्ली में पहली इलेक्ट्रिक बस ई-44 का आईपी डिपो से संचालन शुरू किया जा रहा है। दिल्ली सरकार ने पहले चरण में 300 ई-बसें सड़कों पर उतारने का दावा किया है। इसके बाद अगले वर्ष तक परिवहन बेड़े में करीब 2000 ई-बसें शामिल करने का लक्ष्य है। 300 ई-बसें मुंडेला कलां, रोहिणी सेक्टर-37 और राजघाट डिपो से चलाई जाएंगी। इसके लिए सभी डिपो में भी चार्जिंग सुविधा तैयार की जा रही है।

यह भी पढ़ें  100/150 साल पहले कैसा दिखाई देता था दिल्ली शहर, इन 20 अनदेखी तस्वीरों में देख लीजिये,

इन रूटों पर दौड़ेगी बसे

दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) की रूट नंबर ई-44 पर चलने वाली इलेक्ट्रिक बस अब रूट नंबर 817 एन पर मोरीगेट टर्मिनल एवं नजफगढ़ टर्मिनल तक चलेगी। डीटीसी के अनुसार यह बदलाव 4 अप्रैल से किया जा रहा है। इस रूट पर यह इलेक्ट्रिक बस मोरीगेट टर्मिनल से चलकर, बर्फखाना, गुरू गोविंद सिंह मार्ग, सराय रोहिला, शास्त्री नगर ई-ब्लाक, इंद्रलोक मैट्रो स्टेशन, जखीरा, मोती नगर, राजा गार्डन, मुखर्जी पार्क, तिलक नगर, डिस्ट्रिक्ट सेंटर जनकपुरी, उत्तम नगर टर्मिनल, नवादा गांंव, ककरोला ब्रिज, नंगली सकरावती एवं नजफगढ़ दिल्ली गेट होते हुए नजफगढ़ टर्मिनल पहुंचेगी।