इन 78000 परिवारों को केजरीवाल सरकार देगी फ्लैट। जाने ।

``` ```

दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में झुग्गी झोपड़ियों में रह रहे लोगों को जल्द ही अब पक्के मकानों की सौगात मिल सकती है. दरअसल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसको लेकर दिल्ली सचिवालय में अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक की. इस बैठक में जहां झुग्गी वहीं मकान बनाने को लेकर चर्चा की गई. इस दौरान सरकार के जो प्रोजेक्ट चलाए जा रहे हैं, उनकी मौजूदगी को लेकर मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से जानकारी ली और जल्द ही योजनाओं को संपन्न करने के निर्देश दिए.

पहले चरण में 16 हजार परिवार होंगे शिफ्ट

दिल्ली सरकार चरणबद्ध तरीके से झुग्गियों में रह रहे करीब 78 हजार परिवारों को पक्के मकानों में शिफ्ट करेगी. पहले चरण में करीब 16 हजार परिवारों को शिफ्ट किया जाएगा. इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चल रहे मौजूदा प्रोजेक्ट्स को हर हाल में तीन साल के अंदर पूरा करने के सख्त निर्देश निर्देश दिए, ताकि झुग्गियों में जीवन यापन करने को मजबूर परिवारों को जल्द से जल्द पक्का मकान देकर उन्हें एक सम्मानजनक जिंदगी दी जा सके. उन्होंने फ्लैट निर्माण के साथ बिजली-पानी समेत अन्य सुविधाओं को भी समय पर पूरा करने के निर्देश दिए.

जहां झुग्गी वहां पक्का मकान

अब जहां झुग्गियां हैं, उसी जमीन पर मकान बनाकर दिए जाएंगे. पहले झुग्गी के आस-पास पांच किलोमीटर के दायरे में मकान बनाकर देने का प्रावधान था. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने झुग्गियों में रह रहे हजारों परिवारों को ‘जहां झुग्गी, वहीं मकान’ योजना को आगे बढ़ाए जाने के निर्देश दिए हैं और जल्द ही इस योजना को पूरा कर लिया जाएगा.

यह भी पढ़ें  दिल्ली के आई आई टी से महरोली तक अब नहीं लगेगा जाम,
जानिए कैसे

पक्के मकानों की विस्तृत जानकारी

बैठक में उपमुख्यमंत्री एवं पीडब्ल्यूडी मंत्री मनीष सिसोदिया, शहरी विकास मंत्री सत्येंद्र जैन के साथ दिल्ली अर्बन शेल्टर इंप्रूवमेंट बोर्ड (डूसिब), पीडब्ल्यूडी, दिल्ली जल बोर्ड समेत संबधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे. समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डूसिब अधिकारियों से झुग्गियों में रहने वाले परिवारों के लिए बनाए जा रहे, पक्के मकानों की मौजूदा स्थिति की विस्तृत जानकारी ली. अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि अलग-अलग स्थानों पर पक्के मकान बनाए जा रहे हैं.

78 हजार फ्लैट बनाएगी सरकार

केजरीवाल सरकार अपने अधिकार क्षेत्र में उपलब्ध भूमि पर फ्लैट बनवा रही है. यह फ्लैट कई फेज में बनाए जाएंगे. इस तरह दिल्ली सरकार चरणबद्ध तरीके से 78 हजार से अधिक फ्लैट बनाएगी. पहले फेज में लगभग 16 हजार परिवारों को पक्के मकान में शिफ्ट किया जाएगा और यह लक्ष्य 2024 तक पूरा कर लिया जाएगा. जानकारी के मुताबिक डूसिब ने करीब 15,962 फ्लैट बनाकर तैयार कर लिए हैं. इन फ्लैट्स में परिवारों को शिफ्ट करने का कार्य इसी साल शुरू हो जाएगा. इसके अलावा डूसिब के कई प्रोजेक्ट चल रहे हैं, जिन पर तेजी से काम किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें  शिक्षित बेरोजगार युवाओं को दिल्ली सरकार देती है 'बेरोजगारी भत्ता', जानिए क्या है ये योजना, कैसे कर सकते हैं आवेदन

निवास स्थान के पास ही मिले सभी सुविधाएं’

दरअसल दिल्ली सरकार जहां झुग्गी वहीं मकान देने की योजना पर इसीलिए काम कर रही है, क्योंकि जो हजारों लोग झुग्गियों में कई सालों से रह रहे हैं. वह अपने निवास स्थान के आसपास ही रोजगार करते हैं. आसपास की फैक्ट्रियों में कुछ लोग रेहड़ी पटरी लगाकर अपना रोजगार कमाते हैं और तो और जो लोग अपने परिवार और बच्चों के साथ रहते हैं वह भी आसपास के ही स्कूलों में पढ़ने के लिए जाते हैं. इन लोगों को सभी बुनियादी सुविधाएं घर के पास ही मिलें और इन्हें कहीं और ना जाना पड़े, इस वजह से जहां जुग्गी वहीं पर पक्के मकान बनाकर दिल्ली सरकार झुग्गीवासियों को देने की योजना पर काम कर रही है.

78 हजार फ्लैट बनाएगी सरकार

केजरीवाल सरकार अपने अधिकार क्षेत्र में उपलब्ध भूमि पर फ्लैट बनवा रही है. यह फ्लैट कई फेज में बनाए जाएंगे. इस तरह दिल्ली सरकार चरणबद्ध तरीके से 78 हजार से अधिक फ्लैट बनाएगी. पहले फेज में लगभग 16 हजार परिवारों को पक्के मकान में शिफ्ट किया जाएगा और यह लक्ष्य 2024 तक पूरा कर लिया जाएगा. जानकारी के मुताबिक डूसिब ने करीब 15,962 फ्लैट बनाकर तैयार कर लिए हैं. इन फ्लैट्स में परिवारों को शिफ्ट करने का कार्य इसी साल शुरू हो जाएगा. इसके अलावा डूसिब के कई प्रोजेक्ट चल रहे हैं, जिन पर तेजी से काम किया जा रहा है.

‘निवास स्थान के पास ही मिले सभी सुविधाएं’

यह भी पढ़ें  पेट्रोल- डीजल पर बड़ी राहत! तेल कंपनियों ने जारी किए नए दाम, ₹84.10 में मिल रहा सबसे सस्ता पेट्रोल

दरअसल दिल्ली सरकार जहां झुग्गी वहीं मकान देने की योजना पर इसीलिए काम कर रही है, क्योंकि जो हजारों लोग झुग्गियों में कई सालों से रह रहे हैं. वह अपने निवास स्थान के आसपास ही रोजगार करते हैं. आसपास की फैक्ट्रियों में कुछ लोग रेहड़ी पटरी लगाकर अपना रोजगार कमाते हैं और तो और जो लोग अपने परिवार और बच्चों के साथ रहते हैं वह भी आसपास के ही स्कूलों में पढ़ने के लिए जाते हैं. इन लोगों को सभी बुनियादी सुविधाएं घर के पास ही मिलें और इन्हें कहीं और ना जाना पड़े, इस वजह से जहां जुग्गी वहीं पर पक्के मकान बनाकर दिल्ली सरकार झुग्गीवासियों को देने की योजना पर काम कर रही है.