DMRC मे तैनात की फ्लाइंग स्क्वाड, यात्रियों को लग सकता है मोटा जुरमाना

``` ```

CISF के लाख कहने पर भी मेट्रो में सफर करते यात्री मास्क का प्रयोग नहीं करते हैं , कई जगहों पर हालत काफी बिगड़ जाते हैं और हाथापाई की खबरे भी सामने आती हैं ,

इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए अब DMRC (दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन ) ने कई स्टेशनों पर फ्लाइंग स्क्वाड तैनात कर दिये हैं।

दिल्ली की मेट्रो रेल सेवा में कोविड दिशा-निर्देशों के पालन न करने के कई मामले सामने आएं हैं , इसपर DMRC
का कहना है की वे कोविद गाइड लाइन के पालन को सुनिश्चित करने का हर पययस करने में जुटी है।

कोविड -19 के सभी प्रोटोकॉल्स का सही तरह से पालन इसके लिए अब दिल्ली मेट्रो स्टेशंस पर निगरानी के लिए अब DMRC के अधिकारिओं ने फ्लाइंग स्क्वाड को नियुक्त कर दिया है ,

इस बड़े फैसले के पीछे का कारन यही है की दिल्ली मेट्रो के कई यात्री हैं जो कोविड -19 के नियमो का उलघन करते हैं।आपको बतादें की उत्तरी दिल्ली के मेट्रो स्टेशन कश्मीरी गेट पर

यह भी पढ़ें  दिल्ली से वाराणसी तक चलने वाली बुलेट ट्रेन की रफ़्तार पर लगा ब्रेक, अधिकारियों ने फिजिबिलिटी रिपोर्ट की खारिज

जिधर मेट्रो लाइन्स इंटरचेंज करने की सुविधा है वहीं हल ही में कई यात्रिओं को भीड़ में बिना फेस मास्क का प्रयोग करते देखा गया था ,

और कई यात्री बिना मास्क पहने ही मेट्रो के अंदर प्रवेश कर यात्रा भी करते नजर आये। दिल्ली मेट्रो और मेट्रो स्टेशनों पर मौजूद यात्रिओं की सुविधा का कार्य केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल का है,

यह सुनिश्चित करते हैं की दिल्ली मेट्रो के अंदर प्रवेश कोण करता है , इन् कर्मचारिओं का कहना की कई बार उनके कहने पर भी लोग मास्क लगाने से इंकार करदेते हैं

या तो फेर प्लेटफार्म पर जकर मास्क हटा लेते हैं जिससे यात्री और कर्मचारिओं में हाथापाई भी होजाती है।आपको बतादें की गुरुवार दोपहर के समय एक मेट्रो स्टेशन पर कई यात्री चेकिंग

की लाइन में खड़े थय जिनमे से केवक कुछ ने ही फेस मास्क लगाया था , कर्मचारी अथवा अधिकारिओं का कहना है की दिल्ली मेट्रो में यात्रा करने वाले सभी यात्रिओं से हर बार

यह भी पढ़ें  दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस वे पर नहीं चलेंगे दोपहिया वाहन, काटे जाएंगे चालान

अनुरोध करा जाता है की वे कोविड -19 के प्रोटोकॉल्स का पालन करें। दिल्ली के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के नियमो के अनुसार दिल्ली पुलिस मास्क ना पहनने वालों पर पांच सौ रुपए का जुर्माना लगाती है।