दिल्ली की सड़को पर आज से 100 ई-बसों मे पहली बार महिला बस चालक इन रूटों पर भरेंगी रफ़्तार

``` ```

दिल्ली के महिला बस चालकों के पहले बैच की ट्रेनिंग पूरी  होने पर परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने सभी को हाथों हाथ  नियुक्ति पत्र सौंपे और भविष्य की बधाइयां भी दीं।

उन्होंने यह भी  कहा कि सरकार के इस पहल से महिलाओं के सशक्तिकरण के साथ साथ उनके लिए रोजगार संभावनाएं भी बढ़ेंगी।

गौरतलब है की अगले कुछ महीनों में करीब 200 महिला चालकों को प्रशिक्षित किया जाएगा।आपको बता दें की यह ट्रेनिंग दो माह पहले शुरू हुई थी।

ट्रेनिंग ख़त्म हो जाने के बाद अब बुधवार यानि आज से 11 महिलाएं राजघाट डिपो से बसों को लेकर कई मार्गों के लिए रवाना होंगी।

इस प्रशिक्षण के दौरान सभी महिलाओं को डिपो के साथ साथ अनुभवी चालकों के साथ सड़कों पर भी ड्राइविंग का मौका दिया गया था, हालाँकि, अभी 10 और महिलाएं भी ट्रेनिंग ले रही हैं।

क्या कहती है प्रशिक्षु
पहली बैच में प्रशिक्षण लेने वाली बबीता धवन, कोमल चौधरी, नीतू, संतोष, भारती, दीपक, शर्मिला सहित सभी 11 महिला चालकों ने अनुभव साझा करते हुए यह बताया की दिल्ली की

यह भी पढ़ें  दिल्ली सरकार ने बगैर मास्क वालों को 500 रुपये के चालान काटने के जारी किये निर्देश

ट्रैफिक में बस चलाने में उन्हें काफी अच्छा लगा, दूसरे शहरों की तुलना में दिल्ली में वाहनों का अधिक बोझ है। ट्रेनिंग के

दौरान गाड़ी चलाने से लेकर ट्रैफिक नियमों की भी जानकारी दी गयी सभी जानकारी सहित बस चलाने का अनुभव हासिल किया।

सबसे अधिक प्रशिक्षु हरियाणा की निवासी
गौरतलब है की 11 महिला चालकों में 80 फीसदी से अधिक हरियाणा की निवासी हैं। प्रशिक्षण लेने वाली शर्मिला ने बताया की वो पहले से भी ड्राइविंग करती रही है।

चरखी दादरी की भारती ने भी यह बताया की उन्हें खेतों में ट्रैक्टर सहित कई वाहनों को चलाने का अनुभव है। वही नीतू ने भी यह कहा कि सड़कों पर सुरक्षा बनाये रखना हमेशा

प्राथमिकता रहेगी। सान्या ने भी यह बताया की वह 13 वर्ष की उम्र से ड्राइविंग कर रही है।

दिल्ली की सड़को पर आज से 100 और ई- बसें भरेगी रफ़्तार
आपको बता के की यात्रियों की सहूलियत को देखते हुए बुधवार यानि आज से दिल्ली की सड़कों पर 100 ई- बसें उतारी जा रही है, जिससे बसों की कमी दूर होगी।

यह भी पढ़ें  दिल्ली में छाया पानी पर संकट, इन इलाकों में नही आ रहा पानी। लगाए जा रहे है केन पर ताले

पैनिक बटन, सीसीटीवी कैमरे, जीपीएस, महिलाओं के लिए अलग सीट और दिव्यांगों के लिए विशेष सुविधाओं से लैश ये बसें राजघाट डिपो से अलग अलग मार्गों पर रवाना होंगी।

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने यह बताया कि 100 लो फ्लोर एसी इलेक्ट्रिक बसें सड़कों पर उतारी जाएंगी। इससे कई रूट पर सफर करने वाले यात्रियों को काफी राहत होगी।

इससे पहले दिल्ली में 150 ई- बसें यात्रियों को सेवाएं मुहैया कर रही हैं। 100 और नई बसों के दिल्ली के परिवहन बेड़े में शामिल होने से इनकी संख्या बढ़कर करीब 250 हो जाएंगी।