दिल्ली मे मकान बनाना हुआ आसान, पहले सरिया और अब गिरे सीमेंट और ईंट के दाम, जाने सीमेंट का आज का दाम

``` ```

नई दिल्ली :- सब लोगों का सपना होता है कि उनका अपना घर हो. यदि आप भी ऐसा कुछ विचार कर रहे हैं तो यह खबर आपके लिए राहत भरी है. कम डिमांड (Low Demand),

ढीला रियल एस्टेट सेक्टर (Real Estate Sector) और सरकारी दखलंदाजी से पिछले कुछ दिनों में घर बनाने में प्रयोग होने वाले सम्मान के रेट कुछ कम हुए हैं.

कुछ महीने पहले तक सरिया के दाम बहुत ऊंचे थे जो कुछ कम हुए हैं. इनके साथ ही अन्य सामान जो घर बनाने में प्रयुक्त होता है जैसे ईट और सीमेंट उनके दाम भी कम हुए हैं.

इसीलिए यह बिल्कुल अच्छा वक्त है जब आप अपने सपनों का घर तैयार कर सकते हैं. आपको बता दें कि सरकार ने स्टील पर Export Duty में वृद्धि की थी.

इसकी कारण डॉमेस्टिक मार्केट में स्टील के रेट बहुत तेजी से कम हुए. सरिए की रेट भी इसी कारण कम हुए हैं. देश के ज्यादातर इलाकों में भारी बारिश के कारण भी निर्माण कार्य

यह भी पढ़ें  #दिल्ली#Delhi मे CNG PNG के दाम को कम करने की सरकार ने की नयी योजना की घोषणा

रुके हुए हैं, जिसका असर Demand पर हुआ है. मार्च-अप्रैल के दौरान सरिये का भाव रिकॉर्ड शीर्ष लेवल पर

पहुंच गया था. अभी बीते कुछ दिनों से फिर से सरिए का भाव तेज हुआ है लेकिन मार्च-अप्रैल की अपेक्षा अभी यह सस्ता है.

Branded सरिये के भाव में भी आई कमी
स्टील मिनिस्ट्री के आंकड़ों के अनुसार, TMT सरिया का खुदरा भाव अप्रैल के शुरू में लगभग 75,000 रुपये प्रति टन था, जो 15 जून को गिरकर करीब 65 हजार प्रति टन पर आ

गया. खुदरा बाजार की बात करें तो अप्रैल में एक वक़्त ऐसा था ज़ब सरिये का भाव 82,000 रुपये प्रति टन हो गया था, जो अभी कम होकर 50 से 55 हजार रुपये प्रति टन पहुंच

गया है. सिर्फ लोकल ही नहीं बल्कि Branded सरिये के भाव में भी पिछले कुछ समय से कमी आई है. मार्च 2022 में

ब्रांडेड सरिये का रेट 01 लाख रुपये प्रति टन के पास पहुंच गया था, अभी यह 80-85 हजार रुपये प्रति टन आ गया है.

यह भी पढ़ें  इरादा कर लिया है, हम इन्हें ऐसा पढ़ाएंगे…’. दिल्ली सरकार ने लॉन्च किया शिक्षा गीत, जो समझाएगा शिक्षा का असली मकसद: अरविंद केजरीवाल।

सीमेंट के भाव भी हुए कम
भू-राजनैतिक Stress व अन्य कारणों से Raw Material की कीमतों में काफी वृद्धि हुई है. जिसका सीधा प्रभाव सीमेंट पर भी हुआ है. अप्रैल में सीमेंट की 50 किलो की बोरी 450

रुपए में बिक रही थी जिसके कीमत अब 400 रुपये प्रति बोरी है. अंबुजा सीमेंट (Ambuja Cement) और अल्ट्राटेक सीमेंट (Ultratech Cement) की कीमत 385

रुपये जबकि एसीसी सीमेंट (ACC Cement) 370 रुपये है. बिड़ला उत्तम (Birla Uttam) सीमेंट की एक बोरी पहले 400 रुपये में बिक रही थी,

अब इसकी कीमत ₹380 है. इसी तरह बिड़ला सम्राट (Birla Samrat ) के भाव में कमी आई है जो 440 रुपये से कम होकर 420 रुपये हो गया है

जबकि एसीसी का भाव 450 रुपये से घटकर 440 रुपये हुआ है. नॉर्मल सीमेंट अभी 315 रुपए में एक बोरी मिल रही है.

ईटों के भाव में भी आई कमी
ईंट की कीमतों की बात करें तो अभी दिल्ली में इसके भाव में 1-2 हजार रुपये प्रति हजार यूनिट की कमी आई है. दिल्ली-एनसीआर में ईंटों का व्यापार करने वाली कंपनी DBF

यह भी पढ़ें  DMRC एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन की बढ़ेगी स्पीड, 120 किमी प्रति घंटे की गति से फर्राटा भरेंगी मेट्रो

Bricks के मुताबिक , दिल्ली में अभी एक नंबर की 1000 ईंटें 5500 रुपये में मिल रहे हैं. इसी तरह दो नंबर की हजार ईंटों का भाव 4500 रुपये और तीन नंबर की हजार ईंटों का

भाव 3500 रुपये है. Soft अब्बल किस्म की हजार ईटों का भाव 5,200 रुपये हो गया है. वहीं यूपी ब्रिक्स 5,300 रुपये प्रति हजार यूनिट में और हरियाणा ब्रिक्स 5, रुपये प्रति हजार

यूनिट की दर से उपलब्ध है. महीने भर पहले इनके भाव कम से कम 6000 रुपये से ज्यादा थे . घर बनाने वाले सामान का उत्पादन करने वाली कंपनी यूपीब्रिक्स के अनुसार, अभी

टाइल्स के भाव कम होकर 5,200 रुपये प्रति हजार यूनिट हो चुके हैं. इसी प्रकार यमुना रेत 30 रुपये स्क्वेयर फीट और व्हाइट डस्ट एक नंबर 42 रुपये प्रति स्क्वेयर फीट में उपलब्ध है.