दिल्ली से देहरादून पहुंचना हुआ आसान,सुरंग मे बने एक्सप्रेसवे के निर्माण से सिर्फ 2 घंटो की होगी दुरी

``` ```

दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस-वे परियोजना को पूरा करने की अंतिम समय सीमा अक्तूबर 2023 निर्धारित की गई है। नई दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस-वे परियोजना से जुड़े तमाम निर्माण

कार्यों को समय रहते पूरा किया जा सके, इसके लिए अफसरों, इंजीनियरों की अगुवाई में दिन रात काम किया जा रहा।केंद्र सरकार और भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण

(एनएचएआई) की महत्वाकांक्षी योजनाओं में शुमार नई दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस-वे के निर्माण में जुटे अफसरों और इंजीनियरों ने डाटकाली मंदिर के पास 340 मीटर लंबी सुरंग

की खुदाई का काम रिकॉर्ड समय में पूरा कर लिया है।परियोजना से जुडे़े अफसरों की मानें तो सुरंग का काम 10 फरवरी 2022 को शुरू किया गया,

जो 16 अगस्त को रिकॉर्ड समय में पूरा कर लिया गया है। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के परियोजना निदेशक पंकज कुमार मौर्या ने बताया कि डाटकाली मंदिर के पास

निर्माणाधीन सुरंग की लंबाई 340 मीटर है, जिसका आधा हिस्सा यूपी और आधा हिस्सा उत्तराखंड में पड़ता है।सुरंग की चौड़ाई 14.20 मीटर है।

यह भी पढ़ें  दिल्ली - हरियाणा से पंजाब के यात्रियों के लिए खुशखबरी,अब हटाए जायेंगे हमेशा के लिए सारे टोल

सुरंग में गाड़ियों की आवाजाही में दिक्कत न हो, इसके लिए सुरंग को तीन लेन का बनाया जा रहा है। बताया कि सुरंग का निर्माण दिसंबर 2022 तक पूरा करने के साथ ही यातायात के लिए खोल दिया जाएगा।

बताया कि नई दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस-वे परियोजना को पूरा करने की अंतिम समय सीमा अक्तूबर 2023 निर्धारित की गई है।

नई दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस-वे परियोजना से जुड़े तमाम निर्माण कार्यों को समय रहते पूरा किया जा सके, इसके लिए अफसरों, इंजीनियरों की अगुवाई में दिन रात काम किया जा रहा।

प्राधिकरण के अफसरों के मुताबिक, नई दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस-वे का काम पूरा होने के बाद देहरादून से नई दिल्ली का सफर दो से ढाई घंटे में पूूरा किया जा सकेगा।

परियोजना के पूरा होने से जहां लोगों को उच्च स्तरीय यातायात की सुविधाएं मिलेंगी, वहीं राज्य की आर्थिकी को भी रफ्तार मिलेगी।

सुरंग की खासियत
340 मीटर लंबी
14.20 मीटर चौड़ी
10 फरवरी 2022 को शुरू हुआ था काम
अक्तूबर 2023 तक बनना था
तय समय से बहुत पहले काम पूरा
देहरादून से दिल्ली अब ढाई घंटे में सफर

यह भी पढ़ें  दिल्ली की सड़कों पर दौड़ी ऐसी बस : ये कैसा सफर... न आवाज और कब स्टॉप पर पहुंची पता ही नहीं