दिल्ली से नोएडा जाने वाले लाखों लोगों को होना पड़ा भयंकर जाम से परेशान

``` ```

Jam in Delhi कांवड़ियों की सुविधा के लिए पुलिस ने बैरिकेड लगाकर कालिंदी कुंज पर दिल्ली से नोएडा जाने वाले एक कैरिजवे को बंद किया था।

इस कारण शाम चार बजे के बाद से ही इस मार्ग पर यातायात का दबाव काफी बढ़ गया था। कांवड़ यात्रा (Kanwar Yatra) के लिए सोमवार को कालिंदी कुंज के दिल्ली से नोएडा जाने वाले दो कैरिजवे में

एक को बैरिकेड लगाकर बंद कर दिया गया। इस कारण दिल्ली से नोएडा जाने वाले मार्ग पर भयंकर जाम लग गया। कैरिजवे को सोमवार सुबह से ही बंद किया गया था।

दिल्ली से नोएडा जाने वाले लाखों लोगों को जाम में होना पड़ा परेशान

सुबह दिल्ली से नोएडा जाने वाले मार्ग पर यातायात का दबाव कम रहता है इस कारण हल्का जाम लगा। लेकिन, शाम चार बजे के बाद जैसे-जैसे दिल्ली से नोएडा मार्ग पर यातायात का दबाव बढ़ता गया, वाहनों की कतारें भी लंबी होती गईं।

यह भी पढ़ें  दिल्ली की सड़के है अब निगरानी मे एजेंसियां नहीं कर पाएंगी मनमानी

वैकल्पिक रास्तों पर भी लगा जाम

जाम के कारण लोग वैकल्पिक मार्ग अपनाने लगे तो रात सात बजे तक यह जाम मथुरा रोड, ओखला एस्टेट मार्ग व रिंग रोड तक पहुंच गया। जाम के कारण लोगों को घंटों सड़क पर फंसे रहना पड़ा।

कांवड़ियों की सुविधा के लिए पुलिस ने बंद किया था कैरिजवे

कांवड़ियों की सुविधा के लिए पुलिस ने बैरिकेड लगाकर कालिंदी कुंज पर दिल्ली से नोएडा जाने वाले एक कैरिजवे को बंद किया था।

इस कारण शाम चार बजे के बाद से ही इस मार्ग पर यातायात का दबाव काफी बढ़ गया था। रात सात बजे तक तो यह भयंंकर जाम में बदल गया।

देर रात तक जाम से लोग परेशान होते रहे। दिल्ली से नोएडा जाने वाले रमेश ने बताया कि जाम के कारण उन्हें दिल्ली पार करने में ही करीब एक घंटा लग गया।

सावन में कांवड़ यात्रा का है महत्व

बता दें कि सावन के महीने में लोग भगवान शंकर की पूजा करते हैं। शंकर भगवान की पूजा के लिए कुछ लोग कांवड़ यात्रा निकालते हैं।

यह भी पढ़ें  दिल्ली सरकार द्वारा चलाई गयी मुफ्त बिजली योजना, जाने कैसे होगा फायदा

इसमें लोग गंगा जल लेकर अपने अपने इलाके के प्रसिद्ध मंदिरों में चढ़ाने जाते हैं। इसके लिए स्थानीय स्तर पर प्रशासन तैयारी करता है

जिसमें से यातायात के डायवर्जन और मार्ग में अन्य तरह की सुविधाएं होती हैं।