दिल्ली की सड़कों पर लागू हुआ मास्टर प्लान साथ ही बढ़े पार्किंग रेट, नियमो का उलंघन पड़ेगा महंगा

``` ```

दिल्ली की सड़कों पर होने वाली (ऑन स्ट्रीट) पार्किंग को तीन गुना तक महंगा करने की तैयारी की जा रही है।

दिल्ली विकास प्राधिकरण की ओर से नए मास्टरप्लान को लागू करने की दिशा में लगातार कदम उठाए जा रहे हैं।

दिल्ली मास्टर प्लान 2041 के अनुसार, मल्टी-लेवल कार पार्किंग (एमएलसीपी) परियोजनाओं के रखरखाव के लिए जिम्मेदार एजेंसियों को एमएलसीपी के आसपास ऑनस्ट्रीट

पार्किंग को खत्म करने के लिए उपाय करने की आवश्यकता है। डीडीए द्वारा पेश किए गए संशोधन के अनुसार, एमएलसीपी सड़क के किनारे कम से कम 500 मीटर तक

ऑनस्ट्रीट पार्किंग के लिए जिम्मेदार हैं।आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा बीती 12 मई से जारी अधिसूचना के मुताबकि बढ़े हुए पार्किंग शुल्क (एमएलसीपी से कम से कम तीन गुना)

और अन्य उपायों के माध्यम से एमएलसीपी के आसपास ऑनस्ट्रीट पार्किंग को खत्म करने के लिए प्रबंधन एजेंसी द्वारा उपयुक्त उपाय किए जाने चाहिए।

डीडीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इन प्रावधानों को नई एमएलसीपी परियोजनाओं के लिए एजेंसी द्वारा लागू करना होगा।

यह भी पढ़ें  अगर करोगे गीले सूखे कूड़े को अलग अलग, तो मिलेगी हाउस टैक्स मे छूट वरना बढ़ेगी टैक्स की दर

मास्टर प्लान 2041 में कहा गया है कि जहां मल्टीलेवल पार्किंग बनी होगी, उसके आसपास 500 मीटर एरिया को नो

पार्किंग जोन घोषित किया जाएगा। अगर ऑनस्ट्रीट पार्किंग बहुत जरूरी हुई तो वो तीन गुना महंगी होगी।

उठा लिया जाएगा वाहन
60 फुट से कम चौड़ी सड़क पर नो पार्किंग जोन में अगर कोई वाहन खड़ा मिलता है तो निगम, एनडीएमसी या छावनी बोर्ड उसे उठा ले जाएगा।

अगर सड़क इससे चौड़ी है तो ट्रैफिक पुलिस वाहन ले जाएगी। 90 दिन में वाहन नहीं छुड़ाने और 15 दिन का नोटिस

देने पर भी वाहन मालिक के नहीं आने पर, वाहन नीलाम कर दिया जाएगा।

सुरक्षा के लिए सीसीटीवी
दिल्ली में पीक आवर और नॉन पीक ऑवर, कम एवं ज्यादा समय के लिए, वीकडेज,वीकेंड के हिसाब से पार्किंग शुल्क

परिवहन मंत्री की अध्यक्षता वाली 16 सदस्यीय अपैक्स कमेटी तय करेगी। शॉर्ट टर्म पार्किंग एक घंटे की होगी।

पार्किंग में महिला सुरक्षा के लिए सीसीटीवी लगाना होगा और वहां 24 घंटे ऑपरेटर या कर्मी मौजूद रहेगा।

यह भी पढ़ें  Delhi University ने स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए एक नई कंपनी खोलने की योजना बनाई,जाने क्या है

शटल सर्विस की सुविधा
रिहायशी एरिया के लिए आरडब्ल्यूए से एजेंसियां पार्किंग प्लान मांगेंगी। इलाके से दूर पार्किंग होने पर पार्किंग संचालक शटल सर्विस रखेंगे

जिसका किराया पार्किंग फीस में शामिल होगा। रिहायशी इलाके की पार्किंग दूर होने पर लोगों को शटल सर्विस की सुविधा भी मिलेगी।

जुर्माना भी देना पड़ेगा
पार्किंग के इतर अवैध तरीके से खड़े वाहन उठाने का चार्ज दोपहिया वाहनों का 200 रुपये, चार पहिया का 400 रुपये,

एलजीवी 1000 रुपये और भारी वाहन का 1500 रुपये होगा। एमसीडी को यह चार्ज उस एजेंसी को देना होगा जिससे वह वाहन टो करवाएगी।