दिल्ली के नेहरू पार्क में जल्द होगा,बत्तखों का बसेरा और किए जायेंगे बहुत सारे बदलाव, जानिए।

``` ```

जल्द ही नेहरू पार्क के अंदर जहां बत्तखों का बसेरा होगा, वहीं बाहर साइकिल ट्रैक बनाया जाएगा। नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) ने प्रधानमंत्री के ‘स्वच्छ भारत मिशन’ को ध्यान में रखते हुए इस पार्क में और कई प्रयोग करने की तैयारी की है। इसमें बच्चों के खेलने-कूदने के लिए झूले व अन्य उपकरण भी लगाए जाएंगे। इसमें तकरीबन पांच करोड़ रुपये का खर्च आएगा।


एनडीएमसी के उपाध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने बताया कि शहर के बीच 75 एकड़ में फैला यह पार्क उन लोगों का पसंदीदा है, जो आसपास स्थित दूतावासों में रहते हैं। उन्होंने कहा कि वे यहां दौड़ने, व्यायाम करने, घूमने व अन्य खेलों का आनंद लेने आते हैं। पार्क में करीब चार किमी लंबा जागिंग ट्रैक है। इसी तरह इसमें 126 विभिन्न प्रजातियों के 3,700 से अधिक पेड़ लग हुए हैं। इसका उद्घाटन 25 फरवरी 1965 को तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने किया था। उपाध्याय ने बताया कि एनडीएमसी नेहरू पार्क की चारदीवारी के चारों ओर लगभग तीन किमी लंबा साइकिल ट्रैक विकसित करेगा।

यह भी पढ़ें  बड़ा झटका! राशन कार्ड लाभार्थियों को नहीं मिलेगा फ्री गेहूं, सरकार ने जारी किए आदेश

इस ट्रैक का डिजाइन और दिशानिर्देश स्कूल आफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर ने उपलब्ध कराए हैं। इसी तरह नेहरू पार्क में बत्तख घर बनाया जाएगा। अभी बच्चे सिर्फ लोधी गार्डन झील में मौजूद बत्तखों का आनंद लेते हैं। ऐसे में जब यहां बत्तख हाउस बन जाएगा तो यह बच्चों के खास आकर्षण के केंद्र में होगा। उन्होंने बताया कि दो माह में यह बत्तख हाउस बनकर तैयार हो जाएगा।

इसी तरह बच्चों के लिए पार्क में कई खेलने वाले उपकरण लगाए जाएंगे। इसमें मंकी केबल ब्रिज, फव्वारें, झील में फ्लोटिंग स्टेज, पहाड़ व ओपन जिम शामिल हैं। इसके साथ ही बच्चों की सुरक्षा के लिए सिंथेटिक इपीडीएम फर्श बनाए जाएंगे। इसके पहले नेहरू पार्क में ही एनडीएमसी ने दौड़ने और चलने के लिए अत्याधुनिक ट्रैक भी बिछाए हैं। ये यहां आने वाले लोगों के आकर्षण के केंद्र में है।

T