दिल्ली सरकार द्वारा शुरू किए गए वर्चुअल क्लास की मदद से अब स्टूडेंट्स JEE और NEET की तैयारी कर सकते है मुफ्त

``` ```

DMVS Free NEET, JEE Preparation: दिल्ली सरकार द्वारा शुरू किए गए वर्चुअल क्लास की मदद से अब स्टूडेंट्स जेईई और नीट जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी

मुफ्त में कर पाएंगे. जानिए क्या है योजना: दिल्ली सरकार (Delhi Government) 11वीं व 12वीं कक्षा के छात्रों को जेजेई व नीट (JEE and NEET) जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं

की तैयारी करने में मदद करेंगी. प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए अलग अलग विषयों के अलग-अलग विशेषज्ञ शिक्षक रखे जाएंगे.

यह सब वर्चुअल स्कूल (Delhi Virtual School) के माध्यम से किया जाएगा. यह सारी शिक्षा निशुल्क होगी और छात्रों से इसके लिए कोई फीस नहीं वसूली जाएगी.

स्किल आधारित तैयारी भी करवायी जाएगी – वर्चुअल स्कूल के जरिए छात्रों को स्किल आधारित तैयारी भी करवाई जाएगी, ताकि बच्चे पार्ट टाइम प्रोफेशनल कोर्स भी कर सकें.

खासतौर पर 11वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों को जेईआ, नीट व सीयूईटी (यूजी) समेत ऐसी विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद दी जाएगी.

यह भी पढ़ें  दिल्ली में अगले सप्ताह मिलेगी लू से राहत, इन हिस्सों में भी होगी झमाझम बारिश, मौसम के 10 अपडेट्स

क्या कहना है दिल्ली के सीएम का –
इस नई पहल पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम स्कूल में बच्चों को न केवल पढ़ाएंगे, बल्कि हम प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों के लिए विशेषज्ञों को लेकर

आएंगे, ताकि बच्चों को उसके लिए तैयार किया जा सके. अलग-अलग विषयों की अलग-अलग तैयारी करवाई जाएगी. स्किल आधारित तैयारियां भी कराई जाएंगी.

ताकि जो बच्चे इसके साथ-साथ कुछ प्रोफेशनल करना चाहें तो वे पार्ट टाइम जॉब भी कर सकें.

ऐसे चलेगा वर्चुअल स्कूल –
इस वर्चुअल स्कूल में एक स्कूलिंग प्लेटफार्म होगा और हर बच्चे को एक आईडी और पासवर्ड दिया जाएगा. वह बच्चा उस आईडी और पासवर्ड से स्कूलिंग प्लेटफार्म पर लॉगिन

करेगा. लॉगिन करने के बाद वह लाइव क्लासेज अटेंड कर सकता है. सप्लीमेंट्री लर्निंग मैटेरियल भी ले सकता है, ट्यूटोरियल्स कर सकता है. बच्चों का ऑनलाइन एसेसमेंट भी किया जाएगा.

डिजिटल लाइब्रेरी की भी मिलेगी सुविधा –
इसमें एक बहुत बड़ी डिजिटल लाइब्रेरी होगी. बच्चे उस डिजिटल लाइब्रेरी का सारा कंटेंट एक्सेस कर सकते हैं. कोई भी छात्र 24 घंटे में किसी भी समय लाइब्रेरी को एक्सेस कर

यह भी पढ़ें  दिल्ली वालों अपनाओ ये तरीका, बिजली का बिल आयेगा आधे से भी कम। सरकार ने उठाया बड़ा कदम

सकता है. स्कूलिंग प्लेटफार्म को विश्व प्रसिद्ध संस्था गूगल और स्कूल नेट इंडिया ने बनाया है. इन वर्चुअल क्लास में पढ़ाने के लिए शिक्षकों को विशेष तौर पर तैयार किया गया है.

देश के कोने-कोने के छात्र उठा सकेंगे फायदा –
सीएम ने कहा कि मैं समझता हूं कि शिक्षा के क्षेत्र में यह एक बहुत बड़ा क्रांतिकारी कदम साबित होगा. आजादी के बाद शायद पहली बार इतने बड़े स्तर पर यह पहल की गई है.

आप कल्पना करके देखिए कि एक टीचर पढ़ा रहा है, उसको कई हजार स्टूडेंट एक साथ देख रहे हैं. एक साथ देश के कोने कोने से कई सारे छात्र एक बहुत अच्छे टीचर को एक्सेस कर

सकते हैं. यह बहुत बड़ा कदम होगा. मैं उम्मीद करता हूं कि आने वाले समय में हमारे देश के हर बच्चे को अच्छी से अच्छी शिक्षा मिलेगी.