दिल्ली रेलवे स्टेशन पर अब एंट्री के लिए देना पड़ सकता है इतना रुपया, देखें पूरी लिस्ट कहां लगेगा कितना चार्ज

``` ```

अगर आपको अपनी कार या कैब से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन जाना है, तो आप इस खबर को जरूर पढ़े। बता दे नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर अजमेरी गेट की तरफ से पिकअप-ड्रॉपिंग लेन वाला एंट्री चार्ज फिर से बहाल हो गया है। महामारी के दौरान यह शुल्क बंद कर दिया गया था, लेकिन अब ट्रैफिक जाम से निजात पाने के लिए उत्तर रेलवे ने इसे फिर से बहाल कर दिया है। इसकी जानकारी खुद रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने संसद में दी है वहीं पिकअप-ड्रॉपिंग वाली लेन में वाहन ले जाने के लिए समय के हिसाब से रेट तय किए गए हैं।

­

पार्किंग के लिए देने होंगे शुल्क

आग आप अपनी गाड़ी से नई दिल्ली से अजमेर की तरफ तरफ किसी को पिक या ड्रॉप करने जा रहे हैं तो आप 8 मिनट से ज्यादा पार्किंग लेन में बिना कोई शुल्क दिए ठहर सकते हैं। लेकिन 8 मिनट से ज्यादा होने पर शुल्क देना होगा। लेकिन कमर्शियल वाहनों को 8 मिनट तक भी रुकने के लिए बतौर एंट्री फीस 30 रुपये देने होंगे। इसलिए, इन दिनों टैक्सी और कैब वाले यात्रियों को एंट्री गेट से पहले ही उतरने के लिए कह रहे हैं या फिर उन्हें लगने वाला चार्ज भी भुगतान करने की शर्त लगा रहे हैं। उत्तर रेलवे ने पार्किंग लेन में अनाधिकृत गाड़ियों के जमावड़े को रोकने के लिए प्राइवेट और कमर्शियल वाहनों से एंट्री फीस फिर से वसूलना शुरू कर दिया है।पिछले साल मार्च में ही उत्तर रेलवे ने ऐक्सेस-कंट्रोल पार्किंग सिस्टम की शुरुआत की थी, लेकिन बाद में कोविड महामारी के बाद इसे रोक दिया गया था।

इस तरह से देने होंगे चार्जेज

स नियम की शुरुआत के बाद नई दिल्ली स्टेशन पर 8 मिनट तक निजी वाहनों को पिकअप-ड्रॉप लेन में एंट्री के लिए कोई पैसा नहीं देना होगा।वहीं कमर्शियल वाहनों को 30 रुपए का भुगतान करना होगा।

यह भी पढ़ें  दिल्ली में छाया पानी पर संकट, इन इलाकों में नही आ रहा पानी। लगाए जा रहे है केन पर ताले

8 से 15 मिनट तक के लिए निजी और कमर्शियल दोनों वाहनों को 50 रुपये देने होंगे और 15 से 30 मिनट के लिए 200 रुपए देने होंगे ।वहीं रेल मंत्री ने कहा कि ’30 मिनट से ज्यादा पिकअप या ड्रॉपिंग की अनुमति नहीं दी जाएगी। बल्कि जो यात्री आधे घंटे अपने वाहन को पार्क करना चाहते है तो वाहन अधिकृत पार्किंग क्षेत्र में अपने वाहन पार्क कर सकते हैं। जिसकी रेट फिक्स है।

बिना टिकट यात्रियों पर भी लगाम

इसी बीच आपको बता दें रेलवे ने बिना टिकट ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों पर भी लगाम कसनी शुरू कर दी है। वहीं पिछले डेढ़ सालों में तीन सीमित संख्या में स्पेशल टैग के साथ चल रही थीं। अब रेलवे की सेवाएं समान हो रही है।

20 करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई

पिछले एक महीने में साढ़े तील लाख से ज्यादा यात्री बिना टिकट पकड़े गए हैं और उनसे 20 करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई रेलवे को हुई है। आने वाले दिनों में ऐसे और अभियान चलाए जाने की संभावना है, इसलिए सही टिकट लेकर ही ट्रेन की यात्रा करें और कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन अवश्य करें।

यह भी पढ़ें  दिल्ली में शराबियो के लिए दुख की खबर, लगातार बंद हो रही है इन इलाकों में शराब की दुकानें देखे