राजस्थान से दिल्ली पहुंचना हुआ और भी आसान, घंटो का सफर होगा मिनटों में तय जानिए कैसे

``` ```

Sohna Elevated Road News: दिल्‍ली-मुंबई एक्‍सप्रेस वे (Delhi-Mumbai Expressway) का अहम हिस्‍सा ग्रुरुग्राम-सोहना एलिवेटेड रोड की शुरुआत हो गई है.

गुरुग्राम-दिल्‍ली एक्‍सप्रेस वे से सोहना तक 21 किलोमीटर लंबा एलिवेटेड रोड सिक्स लेन है. यह एलिवेटेड रोड दिल्‍ली-एनसीआर के सबसे बड़े इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर प्रोजेक्‍ट्स में से एक है.

करीब 2,000 करोड़ रुपये खर्च कर बना यह रोड गुरुग्राम और सोहना के बीच की दूरी कम करेगी. साथ ही गुरुग्राम से अलवर के बीच 120 किलोमीटर का सफर भी जल्‍द पूरा हो सकेगा.

सोहना एलिवेटेड रोड का विधिवत उद्घाटन केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी 19 जुलाई को करेंगे.दिल्‍ली-अलवर और एनसीआर के लोगों के लिए अच्छी खबर है.

गुरुग्राम से दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे को जोड़ने वाले सोहना एलिवेटेड रोड शुरू हो गया है. अब दिल्ली से गुरुग्राम और गुरुग्राम से सोहना और अलवर का सफर आसान हो गया है.

एलिवेटेड रोड पर एंट्री और एग्जिट के अलावा तीन एक्‍सेस पॉइंट्स होंगे. दिल्ली या गुड़गांव से जयपुर और मुंबई जाने वालों के लिए गुरुग्राम का ट्रैफिक परेशान करता था.

यह भी पढ़ें  HDFC के 100 ग्राहक हुए मालामाल, अचानक खाते में आ गिरे 13 करोड़ रुपए। आखिरकार ऐसा क्या हुआ

अब इस कॉरिडोर के शुरू होने से जाम में फंसे बिना ही मुंबई एक्सप्रेसवे पर पहुंचना आसान हो जाएगा. दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे को अलीपुर गांव के समीप जोड़ दिया गया है.

सोहना एलिवेटेड रोड का विधिवत उद्घाटन केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी 19 जुलाई को करेंगे. ताऊ देवीलाल स्टेडियम में समारोह की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह, स्थानीय सांसद और केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह तथा उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला भी इस समारोह में शरीक होंगे.

30 किलोमीटर लंबा यह हाइवे रेवाड़ी-अटेली के यातायात को सुगम बना सकेगा.गुरुग्राम को सोहना से जोड़ने के अलावा यह एलिवेटेड रोड अलवर तक जाने वालों का वक्‍त और ईंधन भी बचाएगा.

अभी गुरुग्राम से अलवर आने में 3 घंटे से ज्‍यादा का समय लगता है, लेकिन अब एलिवेटेड रोड से दोनों शहरों के बीच 120 किलोमीटर की यात्रा दो घंटे से भी कम समय में पूरी हो सकेगी.

यह भी पढ़ें  दिल्ली-NCR में होंगे कल से ये 5 बड़े बदलाव, जिनका आपकी जेब पर पड़ेगा असर, जाने कौन से हैं बदलाव

गुरूग्राम-सोहना नेशनल हाइवे का निर्माण 2018 में शुरू हुआ था. इसे 2021 में पूरा किया जाना था, लेकिन कोरोना के चलते देरी हुई. इसका निर्माण दो पैकेज में किया गया है,

पैकेज एक में करीब 1 हजार करोड़ रुपये और पैकेज दो में करीब 944 करोड़ रुपये में खर्च किए गए हैं.पहले हालात ऐसे थे कि लोगों को कई जगह जाम में फंसना पड़ता था.

राजीव चौक से सुभाष चौक, इस्लामपुर, टीकरी कट, वाटिका चौक होते हुए सोहना जाते हैं तो 4 प्रमुख पॉइंट पर जाम में फंसना पड़ता था.

इसी तरह राजीव चौक, वाटिका चौक, बादशाहपुर, सुभाष चौक पर जाम के हालात बेहद खराब थे. करीब एक घंटा राजीव चौक से सोहना की 22 किमी की दूरी तय करने में लगता था.

अब एलिवेटेड रोड से यह दूरी सिर्फ 15 से 18 मिनट में तय हो सकेगी.एलिवेटेड रोड पर शुरू में एंट्री और एग्जिट के अलावा केवल एक एक्‍सेस पॉइंट (घामड़ौज) बनाया जाना था.

यह भी पढ़ें  दिल्ली मंत्रालय ने आम जनता के लिए जारी किए नए रेट, सरसों तेल, दाल, चावल आटा हुआ सस्ता

हालांकि NHAI अधिकारियों के पिछले महीने ही ऐलान किया कि लोगों की सहूलियत को देखते हुए सुभाष चौक और जेल रोड के पास दो और एक्‍सेस पॉइंट बनाए जाएंगे.

गुरुग्राम से सोहना तक रोड के दोनों तरफ साउंड प्रूफ बैरियर लगाए गए हैं. दूसरी तरफ से आने वाली गाड़ियों की लाइट के रिफ्लेक्शन को रोकने का भी इंतजाम किया गया है.

मध्य प्रदेश के सिवनी में एनएच 44 पर बने साउंड प्रूफ बैरियर की तर्ज पर रोड के दोनों तरफ साउंड प्रूफ बैरियर लगाए गए हैं. सोहना एलिवेटेड रोड पर वाहनों के शोर को लेकर

आसपास की सोसायटियों और ऑफिसों के लोग चिंतित थे. इसका दूसरा फायदा सामने से आने वाले वाहनों की लाइट का रिफ्लेक्शन रोकना होगा. लाइट के रिफ्लेक्शन को भी इस बैरियर से रोकने की कोशिश होगी.