दिल्ली में वाहन चालकों पर सख्ती, ये सर्टिफिकेट न होने पर भारी जुर्माना और जेल की सजा

``` ```

PUC Certificate दिल्ली में वाहन मालिकों को नोटिस भेजा जा रहा है। ऐसे में आप भी चेक कर लें कि कहीं आप भी तो नहीं इस जुर्माने के दायरे में आते हैं।

दरअसल प्रदूषण को कम करने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है।राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए राज्य सरकार ने बिना वैध प्रदूषण

नियंत्रण प्रमाणपत्र (PUC Certificate) वाले वाहन मालिकों को नोटिस भेजना शुरू कर दिया है और उनसे वैध प्रमाणपत्र प्राप्त करने अथवा जुर्माना भरने के लिए तैयार रहने को कहा है। यह जानकारी अधिकारियों ने सोमवार को दी।

14 लाख वाहन मालिकों को भेजा गया SMS

अधिकारियों के मुताबिक, अभी राजधानी में 13 लाख दोपहिया और तीन लाख कारों सहित कुल 17 लाख से अधिक वाहन बिना वैध पीयूसीसी के चल रहे हैं।

एक अधिकारी ने कहा कि हमने लगभग 14 लाख वाहन मालिकों को वैध पीयूसीसी प्राप्त करने के लिए एसएमएस भेजकर कहा है कि यदि वे इसे समय पर नहीं प्राप्त करते हैं, तो उन्हें भारी जुर्माना भरना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि दो-तीन महीनों के भीतर सर्दी का मौसम आ रहा है और हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम कुछ हद तक

यह भी पढ़ें  केंद्र सरकार ने रोजगार के अवसर को बढ़ाते हुए इलेक्ट्रिक वाहनों की नई नीति की घोषित

वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करें। वैध पीयूसीसी प्राप्त करने के लिए लोगों को चेतावनी देना उसी दिशा में उठाया गया कदम है।

यहां ले सकते हैं PUC Certificate

दिल्ली में 973 स्थानों पर प्रदूषण की जांच कर प्रमाण पत्र लिया जा सकता है। इसमें लगभग सभी पेट्रोल पंप भी शामिल हैं। बता दें कि पेट्रोल और

सीएनजी से चलने वाले दोपहिया और तिपहिया वाहनों के मामले में प्रदूषण जांच का शुल्क 60 रुपये है।

जानकारी के अनुसार, वैध पीयूसी प्रमाण पत्र के बिना पकड़े जाने पर वाहन मालिकों को मोटर

वाहन अधिनियम के तहत 6 महीने तक की कैद या 10,000 रुपये तक का जुर्माना या फिर दोनों हो सकता है।