दिल्ली के शिक्षक संस्थानों को अपग्रेड करने का काम जोरो पर है जिसके चलते दिल्ली एम्स को बनाया जा रहा वर्ल्ड क्लास यूनिवर्सिटी

``` ```

देश में शिक्षक संस्थानों को अपग्रेड करने का काम किया जा रहा है। हेल्थ के क्षेत्र में भी विकास के काम तेजी से चल रहे। वहीं इसी कड़ी में अब दिल्ली एम्स को भी वर्ल्ड क्लास

यूनिवर्सिटी बनाने का काम किया जा रहा है। दिल्ली एम्स को वर्ल्ड क्लास यूनिवर्सिटी बनाने की तैयारी तेजी से चल रही हैं।हालांकि अभी भी इस प्रोजेक्ट से जुड़े कई काम अटके हुए हैं

जिसके कारण इस प्रोजेक्ट के पूरा होने में देरी भी हो रही है।लेकिन कहा जा रहा है कि जल्द ही इस काम को पूरा किया जाएगा। आइए जानते हैं इस खबर से जुड़े अहम बातें

दिल्ली एम्स को बनाया जा रहा वर्ल्ड क्लास यूनिवर्सिटी

दिल्ली एम्स को वर्ल्ड क्लास यूनिवर्सिटी बनाया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट का प्रबंधन करने वाली कमेटी को भी प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए 20 संस्थाओं में से 18 संस्थाओं की मंजूरी मिल

चुकी है। इसके लिए पेड़ों की कटाई भी की जाएगी और वृक्षारोपण के लिए आया नगर में 26 हेक्टेयर भूमि और सुल्तानपुर में 6 हेक्टेयर जमीन को चुन लिया गया है

यह भी पढ़ें  Delhi पर महंगाई का एक और वार 1 अक्टूबर से CNG और PNG की कीमत में आ सकता है उछाल

लेकिन इसके बाद भी पेड़ों को काटने की अनुमति नहीं मिल पा रही है।वहीं एलजी ने भी इस प्रोजेक्ट को जल्द से जल्द मंजूरी देने का आग्रह किया।

जानकारी के अनुसार अनुमति मिलने के बाद इसी साल के अंत तक इस प्रोजेक्ट पर काम शुरू कर दिया जाएगा। सभी एजेंसियों से इस प्रोजेक्ट को मंजूरी मिल्म चुकी है लेकिन

सिवाए वन एवं पर्यावरण विभाग के। करीब डेढ़ महीने से इस मंजूरी का इंतज़ार किया जा रहा है।

इस कारण भी प्रोजेक्ट में हो रही है देरी

बता दें कि वन विभाग कि मंजूरी के अलावा भी एक और वजह से ये प्रोजेक्ट रुका हुआ है। दरअसल भूमि और विकास कार्यालय द्वारा एकल पट्टेदार को आवंटित पाँच भूमि खंडो को

एक भूखंड में भी बदला जाने वाला है। अब जल्द ही इस मसले का भी हल निकाला जाने वाला है।