हरियाणा को मिलने वाली है एक और नए एक्सप्रेस वे की सौगात कई शहरों में आना जाना हो जाएगा आसान

``` ```

हरियाणा में सड़क कनेक्टिविटी को मजबूत करने का काम किया जा रहा है। इसके लिए प्रदेश में एक्सप्रेस वे को बनाने का काम भी किया जा रहा है।

अब खबर आ रही है कि हरियाणा को एक और नए एक्सप्रेस वे की सौगात मिलने वाली है। इस एक्सप्रेस वे को हरियाणा और पश्चिम उत्तरप्रदेश को जोड़ने के लिए बनाया जा रहा है।

अब कहा जा रहा है कि हरियाणा से उत्तरप्रदेश के कई शहरों में आना जाना इस एक्सप्रेस वे के माध्यम से काफी आसान हो जाएगा। करोड़ों की लागत से ही

इस एक्सप्रेस वे को तैयार किया जा रहा है। इस एक्सप्रेस वे का काम भी जल्द ही शुरू भी होने वाला है। आइए जानते हैं खबर को विस्तार से

हरियाणा में बनाया जाएगा नया एक्सप्रेस वे

हरियाणा और पश्चिमी यूपी की कनेक्टिविटी को मजबूद करने के लिए हरियाणा में अंबाला-शामली इकोनोमिक कॉरिडोर का निर्माण किया जाने वाला है।

यह भी पढ़ें  हरियाणा के सिरसा रेलवे स्टेशन को किया जा रहा है अपग्रेड यात्रियों को मिलेगी बेहतर सुविधा

जानकारी के अनुसार इस एक्सप्रेस वे को बनाने के लिए गाज़ियाबाद की कंपनी के साथ अनुबंध भी किया जा चुका है और इस साल के आखिर में इस एक्सप्रेस वे का काम शुरू

होने की उम्मीद जताई जा रही है। ये एक्सप्रेस वे 121 किमी लंबा होने वाला है।भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत ही इस एक्सप्रेस वे को बनाने का काम किया जाने वाला है।

ये एक्सप्रेस वे 60 मीटर चौड़ा भी होने वाला है। इस एक्सप्रेस वे को बनाने में करीब 3663 करोड़ की लागत आने वाली है।

वहीं एक्सप्रेस वे पर दो रेलवे ओवरब्रिज के साथ साथ 31 अंडरपास, 7 इंटरचेंज और 16 छोटे पुल भी बनाए जाने वाले हैं।

कई शहरों में आना जाना हो जाएगा आसान

रिपोर्ट्स के अनुसार अंबाला से शुरू होकर ये एक्सप्रेस वे कुरुक्षेत्र, करनाल और यमुनानगर होता हुआ सहारनपुर और शामली ज़िले को जोड़ने वाला है।

फिलहाल अंबाला से शामली जाने के लिए करनाल होकर जाना होता है जिसमें करीब ढाई घंटे का समय लग जाता है लेकिन इस एक्सप्रेस वे के बन जाने के बाद एक घंटे की बचत

यह भी पढ़ें  भारतीय रेलवे ने की महिलाओं के लिए पहल,अब आरपीएफ की मेरी सहेली टीम रखेगी ख्‍याल अकेली और गर्भवती महिलाओं का

हो जाएगी। इस एक्सप्रेस वे के रास्ते में आने वाली 140 इमारतों को भी गिराया जाने वाला है। कहा जा रहा है कि इस एक्सप्रेस वे से हरियाणा, पंजाब और उत्तरप्रदेश के बीच व्यापार संबंध भी अच्छे होंगे।