दिल्ली में शराबियों के लिए खुशखबरी, शराब पर चल रहा बंपर डिस्काउंट buy one get one free

``` ```

Delhi liquor policy: दिल्ली में एक्साइज पॉलिसी को एक महीने के लिए आगे बढ़ाया जा सकता है. शनिवार देर शाम अधिकारियों ने यह फैसला लिया है.

हालांकि, इसका आधिकारिक आदेश अभी आना बाकी है. ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि फैसलों को लागू करवाने में वक्त मिल पाए.

साथ ही साथ उपभोक्ताओं को भी किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े.दिल्ली की एक्साइज पॉलिसी को लेकर कन्फ्यूजन कम होने का नाम नहीं ले रहा है.

इसी भ्रम की वजह से शनिवार को अचानक दिल्ली की शराब दुकानों पर लंबी-लंबी कतारें लग गईं. लोगों को लगा कि अगर 1 अगस्त से पुरानी पॉलिसी वापस आएगी तो कुछ दिनों तक

शराब की कीमतों पर उसका असर पड़ सकता है. इसी को देखते हुए अब सरकार ने यह फैसला लिया है कि फिलहाल

चल रही पॉलिसी को 1 महीने यानी अगस्त माह के लिए और आगे बढ़ा दिया जाएगा. यानी डिस्काउंट ऑफर जारी रहेगा.

सरकारी सूत्रों की मानें तो उनके पास भी यह खबर आ रही थी कि अगर अचानक से यह पुरानी पॉलिसी लागू कर दी जाए तो लोग पैनिक बाइंग शुरू कर देंगे.

यह भी पढ़ें  दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेस वे हरियाणा से होकर गुजरेगा,कई जिलों के लोगों को होगा फायदा

इसी को देखते हुए शनिवार देर शाम अधिकारियों ने यह फैसला लिया कि फिलहाल चल रही पॉलिसी को 1 महीने के लिए आगे बढ़ा दिया जाए. हालांकि, इसका आधिकारिक आदेश अभी आना बाकी है.

दिल्ली में मच सकती है अफरा-तफरी

दरअसल, शनिवार की सुबह दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा था कि मौजूदा विवाद के बीच दिल्ली फिर से नवंबर 2021 से पहले वाली

पॉलिसी ही लागू करेगी. यानी दिल्ली में सरकारी शराब के ठेके फिर से चलेंगे और प्राइवेट ठेके बंद हो जाएंगे. लेकिन ऐसा करने के लिए एक कैबिनेट आदेश की जरूरत होगी

उसमें फिलहाल थोड़ा वक्त लगेगा.सूत्रों की मानें तो कैबिनेट को फैसला लेने और उसके उपराज्यपाल के जरिए नोटिफिकेशन करवाने में किसी भी हालत में 48 घंटे से कम समय नहीं लगेगा.

यानी फैसला लेने में ही 1 अगस्त की डेडलाइन पार हो जाएगी. नोटिफिकेशन के बाद उस पर अमल करने और दोबारा सरकारी दुकानों को खोलने में भी कुछ दिनों का वक्त लगेगा.

यह भी पढ़ें  देश भर में पहले स्थान पर पहुंची राजधानी दो साल में लगे 1.32 लाख सीसीटीवी कैमरे!

यानी तब तक कन्फयूजन और बढ़ जाएगा और दिल्ली में अफरा-तफरी मच सकती है.इन सब के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है कि मौजूदा शराब नीति को ही अगस्त के महीने

तक चालू रहने दिया जाए ताकि फैसलों को लागू करवाने में वक्त मिल पाए. साथ ही साथ उपभोक्ताओं को भी कोई परेशानी का सामना ना करना पड़े.